teachers

मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार ने रक्षाबंधन से पहले शिक्षकों को बड़ा तोहफा दिया है। मध्य प्रदेश के एक लाख से अधिक शिक्षकों को तीन माह से वेतन नहीं मिल था।

उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बड़ी कार्रवाई की है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने 35 शिक्षकों के खिलाफ ये कार्रवाई की है।

पूरे प्रदेश में बेसिक शिक्षा परिषद से जुड़े सभी स्कूलों में काम कर रहे शिक्षकों का वेतन जारी हो गया है, बावजूद इसके अभी तक गोंडा जिले के हजारों शिक्षक अपने वेतन का इंतजार कर रहे हैं।

इस वक्त की बड़ी खबर चीन से आ रही है। यहां के प्राइमरी स्कूल में एक सुरक्षा गार्ड ने करीब 40 छात्रों और शिक्षकों पर चाकू से हमला कर दिया। चीन की सरकारी मीडिया ने इस खबर की पुष्टि की है।

उत्तर प्रदेश में 69 हजार शिक्षक भर्ती मामला एक बार फिर से सुर्खियों में आ गया है। जहां एक तरफ सरकार भर्ती प्रक्रिया को पूरा करने में लगी हुई है तो वहीं दूसरी तरफ कुछ अभ्यर्थियों ने इस भर्ती प्रक्रिया पर धांधली (Fraud) का आरोप लगाया है।

सीएम सिटी में अलग-अलग समय पर परिषदीय विद्यालयों में हुई शिक्षकों की भर्ती में घोटाला सामने आया है। इन भर्तियों में कूटरचित दस्‍तावेज और दूसरे शिक्षकों के नाम, पते और पैन नंबर का इस्‍तेमाल कर नौकरी कर रहे फर्जी शिक्षकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

बच्चों के लिये प्राथमिक शिक्षा एक मजबूत नींव के समान है। उन्होंने कहा कि देश के भविष्य निर्माता बच्चे होते हैं वह जितने प्रबुद्ध और सशक्त होंगे, देश उतना ही अधिक शक्तिशाली होगा। यह तभी सम्भव है जब बुनियादी शिक्षा सुदृढ़ होगी।

पिछली सरकार ने 50 साल की उम्र वाले शिक्षकों और कर्मचारियों को राज्य में नौकरी दी थी। अब राज्य सरकार का कहना है कि अब इन शिक्षकों तथा कर्मचारियों को जांच के बाद रिटायर किया जाएगा।

उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि लोक सेवा आयोग से चयनित शिक्षकों के मिलने से पहले इस वर्ष स्थानांतरित हुए माध्यमिक स्कूलों के शिक्षकों को कार्य मुक्त कर दिया जाएगा।

प्रदेश के बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा. सतीश चंद्र द्विवेदी ने कहा कि शिक्षकों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए उनका निराकरण कराया जायेगा। शिक्षा की व्यवस्था को बेहतर बनाये जाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है।