trade war

चीन के वुहान से फैला कोरोना वायरस पूरी दुनिया में तबाही मचा रहा है। चीन पर कोरोना वायरस को लेकर जानकारी छुपाने के आरोप लग रहे हैं। अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया समेत दुनिया के कई देशों ने इसकी जांच करने की मांग की है।

आर्थिक सुस्‍ती की वजह से आलोचना झेल रही केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) की प्रमुख क्रिस्टालिना जॉर्जीवा के ताजा बयान से...

अमेरिका और चीन के बीच मौजूदा समय में कुछ भी अच्छा नहीं है। दोनों देशों के बीच ट्रेड वॉर की स्थिति आ गई है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप ने कहा है कि अगर चीन के साथ ट्रेड एग्रीमेंट नहीं होगा तो उस पर और शुल्क लगाए जाएंगे. डोनाल्‍ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस में पत्रकारों से कहा, ‘‘अगर हम चीन के साथ कोई एग्रीमेंट नहीं करते हैं तो उस पर  शुल्क और बढ़ा देंगे।  

अमेरिका और चीन के बीच करीब एक साल से ट्रेड वॉर जारी है जिसके प्रभाव से भारत समेत अन्य देश भी अछूते नहीं हैं। इस व्यापारिक तनाव से दोनों देशों को भी नुकसान काफी नुकसना हुआ है। लेकिन इस बीच दोनों के बीच सुलह होती दिख रही है। अमेरिका और चीन ने एक-दूसरे को कुछ रियायतें दी हैं।

अमेरिका और चीन के बीच चल रहे ट्रेड वार की वजह से वैश्विक मंदी की संभावनाएं बढ़ रही हैं। आर्थिक मंदी के संकेत अमेरिका की इंवेस्टमेंट बैंकिंग कंपनी मॉर्गन स्टेनली ने एक बार फिर दिए हैं। इसी के चलते मार्गन स्टेनली की मानें तो आर्थिक मंदी अगले 9 महीनों में आ जाएगी।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि अमेरिका और चीन व्यापार समझौता करने के 'बहुत करीब' पहुंच चुके थे लेकिन बीजिंग ने इस बारे में फिर से सौदेबाजी शुरू कर दी। हालांकि दुनिया की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाएं अपने बीच चल रहे भीषण व्यापार युद्ध को खत्म करने के लिए किसी समझौते के आस-पास भी पहुंचते नहीं दिख रहे हैं।

1962 में चीन के साथ युद्ध के बाद से 56 साल बीत जाने के बावजूद भारत आज तक चीन से सीधा लड़ने में सक्षम नहीं हो पाया है। परिस्थितियों के चलते चीन भी भारत के साथ सीधा युद्ध तो नहीं लड़ रहा है, लेकिन ट्रेड वार के रूप में उसने जो अघोषित जंग छेड़ा है उसे भारत बर्दाश्त नहीं कर पा रहा है। नतीजतन भारत ने हाल ही में चीन से आयात होने वाले स्टील की कुछ किस्मों पर पर डम्पिंग ड्यूटी बढ़ा दी है।

वाशिंगटन: डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन इस सप्ताह 16 अरब डॉलर मूल्य के चीनी सामान पर 25 फीसदी शुल्क लगाने की तैयारी कर रहा है। दोनों देशों के बीच व्यापार युद्ध जारी है। सीएनएन के मुताबिक, यह आयात शुल्क गुरुवार से प्रभावी होंगे। ऐसी संभावना है कि चीन भी इस कदम के जवाब में अमेरिका के समान मूल्य …

न्यूयॉर्क : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चीन पर अतिरिक्त आयात शुल्क लगाए जाने के कदम के बाद मंगलवार को दुनियाभर के शेयर बाजारों में गिरावट दर्ज की गई। बीबीसी के मुताबिक, डॉव जोंस में 300 से अधिक अंकों यानी 1.6 फीसदी की गिरावट रही। ट्रंप ने चीन पर 200 अरब डॉलर के चीनी सामान पर …