train 18

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बताया, ट्रेन के परिचालन के लिए मुख्य संरक्षा आयुक्त की मंजूरी मिल गई है और वह कल पीएम नरेंद्र मोदी से मिलकर ट्रेन के उद्घाटन की अनुमति लेंगे। उन्होंने कहा कि यह ट्रेन 18 महीने के रिकॉर्ड समय में बनकर तैयार हुई है। यह भारत की एक उपलब्धि है।

जानकारी के अनुसार नए साल में दिल्ली-वाराणसी के बीच इस ट्रेन का संचालन शुरू हो जाएगा। 16 कोच वाली इस ट्रेन में दो एक्जीक्यूटिव श्रेणी के कोच हैं। सीसीटीवी कैमरे और पेंट्रीकार से लैस ट्रेन 80 सेकेंड के भीतर 130 की रफ्तार पकड़ने में सक्षम है। स्पीड ट्रायल की रिपोर्ट देखने के बाद रेलवे बोर्ड की अनुमति पर ट्रेन 18 नई दिल्ली से वाराणसी के बीच चलाई जाएगी।

सबसे तेज रफ्तार की ट्रेन का इंतजार अब खत्म हो गया। भारत में बनाई गई सबसे तेज रफ्तार रेल 'ट्रेन 18' का उद्घाटन 29 दिसंबर को होगा। बताया जा रहा है कि इस ट्रेन को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र से हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। देश में सबसे तेज गति से चलने वाली ट्रेन टी-18 को दिल्ली से वाराणसी वाया प्रयागराज रूट पर चलाने की तैयारी की जा रही है।