unsc

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज संयुक्त राष्ट्र (यूएन) को कुछ देर के बाद संबोधित करेंगे। पीएम मोदी का यह संबोधन संयुक्त राष्ट्र की 75वीं सालगिरह की पूर्व संध्‍या पर न्‍यूयॉर्क में आयोजित एक कार्यक्रम में है।

भारत के साथ मजबूती से खड़े संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अमेरिका और जर्मनी ने दुश्मन देश पाकिस्तान और चीन को जबरदस्त जवाब दिया है।

भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद के बीच रूस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में स्थायी सदस्यता के लिए भारत का जोरदार तरीके से समर्थन किया है।

बुधवार को  संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अस्थाई सदस्य के रुप में भारत  को चुन लिया गया है। अब भारत 2021-22 कार्यकाल के लिए संयुक्त राष्ट्र की सर्वोच्च संस्था का अस्थाई सदस्य बन गया। 192 वोटो में से भारत के पक्ष में 184 वोट पड़ें।  सुरक्षा परिषद के अस्थाई सदस्यों और आर्थिक एवं सामाजिक परिषद के सदस्यों के लिए चुनाव कराया था।

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र की शुरूआत 17 जून 2020 से होने वाली है। इस सत्र में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) के अस्थाई सदस्यता के लिए चुनाव होना है।

कोरोना वायरस महासंकट इस समय दुनिया के लिए बड़ी चुनौती बन गया है। यह जानलेना वायरस चीन के वुहान से शुरू हुआ और पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया। इससे निपटने के लिए संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद(UNSC) की बैठक बेनतीजा रही।

संयुक्त राष्ट्र में भारतीय दूत सैयद अकबरुद्दीन ने कहा कि हमें खुशी है कि संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के प्रतिनिधियों की ओर से कश्मीर पर लगाए गए बेबुनियाद आरोपों की असलीयत सामने आ गई। पाकिस्तान अपने मंसूबों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कामयाब करने के लिए चीन का इस्तेमाल करता है।

कश्मीर मुद्दे पर चीन अपनी चाल से बाज नहीं आ रहा है। उसने एक बार फिर बड़ी चाल चली है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में एक बार फिर कश्मीर मुद्दे पर बंद कमरे में चर्चा की मांग की है।

कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान (Pakistan) विश्व के अन्य देशों के हस्तक्षेप कराने का प्रयास कर रहा है। इसी कड़ी में पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने हाल में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को पत्र लिख कर कश्मीर में भय का माहौल और तनाव होने की शिकायत की थी। लेकिन अब संयुक्त राष्ट्र ने इस मुद्दे पर करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur) खोलने के प्रस्ताव का स्वागत किया है।

कश्‍मीर को लेकर चीन और पाकिस्तान की चाल फेल हो गई है। संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद(UNSC) के कई सदस्‍यों के विरोध के बाद चीन ने कश्‍मीर मामले पर सुरक्षा परिषद में बहस कराने का अपना प्रस्‍ताव वापस ले लिया है।