UP Assembly

कंट्रोल रूम से सम्बन्धित सभी अधिकारियों के टेलीफोन नम्बर एवं ई-मेल आईडी प्रदेश के सभी विधायकों को उपलब्ध कराये जा रहे हैं। विधायकों से कहा गया है कि वे महामारी से सम्बन्धित क्षेत्रीय जनता की समस्याओं के निराकरण के लिए अपने सुझााव कंट्रोल रूम को भेजने का कष्ट करें।

अपरान्ह संसदीय कार्यमंत्री सुरेश कुमार खन्ना जब बजट पर हुई चर्चा का जवाब दे रहे थें तभी नेता प्रतिपक्ष रामगोविन्द चैधरी ने सरकार के दावों को खोखला बताते हुए कहा कि प्रदेश में हाहाकार मचा हुआ है। कानून-व्यवस्था खराब है, बेरोजगारी चरम पर है और सरकार यहां तरह तरह के दावे कर रही हे।

विधान परिषद में समाजवादी पार्टी ने बिजली विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार, बढ़ी बिजली दरों और फर्जी बिल आने को लेकर जमकर हंगामा किया। सपा सदस्यों की सूचना...

बजट का सत्र का दूसरा दिन भी हंगामेंदार ही रहा। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही काग्रेस के सदस्य प्रदेश की कानून व्यवस्था की चर्चा कराए जाने की मांग को लेकर वेल में आ गए। कांग्रेस सदस्यों की मांग थी कि प्रदेश की कानून व्यवस्था इस समय ज्वलंत मुद्दा है इसलिए प्रश्नकाल को स्थगित कर पहले इसी मुद्दे पर चर्चा कराई जाए।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर आयोजित विशेष सत्र में विधान परिषद में जहां विपक्षी दल सपा, बसपा और कांग्रेस ने सत्र का बहिष्कार किया तो वही सत्तारूढ़ दल के साथ अपना दल, शिक्षक दल व निर्दलीय समूह के सदस्यों ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी व पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को श्रद्धाजंलि दी।

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव की क्या समाजवादी पार्टी में वापसी होगी? कई दिनों से ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि शिवपाल सिंह एक बार फिर से सपा में शामिल हो सकते हैं।

उत्तर प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने आज उत्तर प्रदेश विधानसभा की नवसृजित (डायनामिक) वेबसाइट का राजर्षि पुरूषोत्तम दास टण्डन हाल में उद्घाटन किया।

विधान परिषद में शुक्रवार को चार विधेयक पारित हुये और इसके बाद सभापति रमेश यादव ने सदन की बैठक अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी।

यूपी विधानसभा का मानसून सत्र आज से अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया। इस मौके पर  विधान सभा के अध्यक्ष, हृदय नारायण दीक्षित ने कहा कि सभी दलीय नेताओं और मा0 सदस्यो ने सारगर्भित चर्चा में भाग लिया।

यूपी विधानसभा मानसून सत्र के आखिरी दिन सपा और कांग्रेस ने अलग-अलग मुद्दों को लेकर सदन से वाकआउट किया। समावजादी पार्टी के सदस्यों ने एक सवाल पर सरकार के जवाब से संतुष्ट न होने पर सदन से वाकआउट किया।