up board

उत्तर प्रदेश बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं 18 फरवरी से शुरू होंगी। इसके लिए टाइम टेबल 2020 upmsp.edu.in पर जारी कर दिया गया है। वर्ष 2020 की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट की परीक्षा में कुल 55 लाख विद्यार्थी शामिल होंगे।

प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने नकलविहीन बोर्ड परीक्षा कराने के लिए लखनऊ में राज्य स्तर का एकीकृत कंट्रोलरूम बनाने का निर्देश देते हुए कहा है कि सभी जिला विद्यालय निरीक्षक अनिवार्य रूप से परीक्षा केन्द्रों को आनलाइन मानीटरिंग सेल (कन्ट्रोल रूम) से जोड़ा जाना सुनिश्चित करें।

यूपी बोर्ड सभी छात्रों के लिए एक बदलाव करने जा रहा है। दरअस्ल, अब बोर्ड 10वीं की परीक्षा देने के वाले छात्रों की आयु सीमा को निर्धारित करेगा।

इस साल बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं में कुल 58,06,922 छात्र उपस्थित हुए थे। इसमें से हाईस्कूल में 31,95,603 छात्रों ने थे, जबकि कक्षा 12 की परीक्षाओं के लिए 26,11,319  थे।

अबकी बार यूपी बोर्ड के रिजल्ट में लड़कियों ने आपना ज्ञान प्रदर्शित करते हुए लड़कों  को पछाड़ दिया है यूपी बोर्ड 12वीं रिजल्ट में लड़कियों ने बाजी मारते हुए इस साल लड़कों से आगे रही।

UP Board 10th Result 2019: उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के 10वीं और 12वीं के नतीजे आज जारी हो गए हैं। यूपी बोर्ड ने इसकी आधिकारिक घोषणा कर दी है। आज रिजल्ट दोपहर  घोषित किए गए।

यूपी बोर्ड के स्टूडेंट्स को अब रिजल्ट के लिए ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। अभी आ रही ताजा जानकारी के मुताबिक, यूपी बोर्ड 10th और 12th के रिजल्ट की घोषणा 22-24 अप्रैल को की जा सकती है।

हाईकोर्ट ने हिंदी भाषा में सुनाए गये फैसले में कहा कि भारतीय संविधान में राजभाषा देवनागरी हिंदी में सरकारी कामकाज करने की व्यवस्था दी गयी है। हिंदी को पूर्ण रूप से स्थापित होने तक 15 वर्षो तक अंग्रजी भाषा में कामकाज की छूट दी गयी। जिसे आज तक जारी रखा गया है।

यूपी बोर्ड की परीक्षा होने के बाद कापियां के मूल्यांकन का कार्य जारी है। ऐसे में उत्तर पुस्तिकाओं पर इस बार नोट तो नहीं मिल रहे हैं। लेकिन यहां उनकी कापियों में अजब-गजब बातें लिखी हुई जरुर मिल रही है। ऐसी ही कुछ कापियां  शाहजहांपुर में भी मिली है।

यूपी बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि पहली बार नकल रोकने केलिए परीक्षार्थियों को अब उत्तर पुस्तिका के हर पृष्ठ पर रोलनंबर और कॉपी के प्रथम पृष्ठ पर दर्ज कॉपी कोड को लिखना होगा। इससे कॉपी बदले जाने की घटना पर रोक लगेगी।