US

चीन से फैले कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में तबाही मचाकर रख दी है। इटली, ईरान और स्पेन के बाद अब अमेरिका में इस जानलेवा वायरस ने बड़ी तबाही मचाई है। अमेरिका में कोरोना वायरस ने 3,400 लोगों की जान ले ली है।

कोरोना वायरस की गंभीरता की अनदेखी के कारण गहरी मुसीबत में फंसे अमेरिका ने अब सख्त फैसला लेना शुरू कर दिया है। इस वायरस से निपटने के लिए बनाए गए नियमों की अनदेखी करने वालों के साथ अब काफी सख्ती की जाएगी।

कोरोना वायरस ने पूर देश में हाहाकार मचा हुआ है जिसकी वजह से अमेरिका के शहर न्यूयॉर्क में अब वुहान जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है। न्यूयॉर्क के मेयर बिल डे बलासियो का कहना है कि अब हम इस संकट का केंद्र बन गए हैं।

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए दो सप्ताह के आपातकाल की घोषणा इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में हुई है। सोमवार से सार्वजनिक मनोरंजन के साधनों पर रोक लगा दिया गया है, साथ ही सार्वजनिक परिवहन सीमित कर दिया है।  

महाराष्ट्र के कल्याण का एक शख्स अमेरिका से 6 मार्च को लौटा था। ये शख्स कोरोना से संक्रमित है और ऐसा माना जा रहा है कि एक शादी समारोह में शामिल होने के दौरान 1000 से ज्यादा लोगों के संपर्क में आया है।

कोरोना वायरस को लेकर अमेरिका और चीन के बीच पहले से ही जुबानी जंग चल रही है। अब इस बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना वायरस को 'चीनी वायरस' कह दिया है। यह बात चीन को इतना चुभा कि उसने तीन अमेरिकी अखबारों के पत्रकारों को देश से बाहर कर दिया।

अमेरिका के मिसौरी राज्य में सोमवार को एक पेट्रोल पंप पर गोलीबारी हुई। इस गोलीबारी में पांच लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में एक पुलिस अधिकारी और एक बंदूकधारी भी शामिल है। पुलिस ने इस बात की जानकारी दी।

कोरोना वायरस से दुनियाभर में कोहराम मचा हुआ है। इस खतरनाक वायरस को रोकने के लिए दुनिया को वैक्सीन की जरूरत है। दुनिया के 157 देश कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। अबतक कोरोना की चपेट में आकर दुनिया में कुल 6,515 लोगों की जान जा चुकी है जबकि कुल 1,69,524 लोग अब भी कोरोना की चपेट में हैं।

अमेरिका के टेनेसी राज्य में आए भीषण तूफान में कम से कम 25 लोगों की मौत हो गई है। इस तूफान से इमारतें ध्वस्त हो गई और बिजली के खंभे उखड़ गए। तूफान के चलते दक्षिण अमेरिकी राज्य में प्राइमरी चुनाव के लिए मंगलवार को होने वाले मतदान के लिए समय बढ़ा दिया गया।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप लौटते ही चुनावी मोड में आ गए हैं। भारत दौरा अब उनकी रैलियों का हिस्सा हो गया है। अपनी पार्टी रिपब्लिकन की ऐसी ही एक रैली के दौरान ट्रंप ने गुजरात दौरे का जिक्र किया।