US

चीन और अमेरिका के बीच चल रहे ट्रेड वॉर की वजह से दोनों देशों को अरबों का नुकसान हो रहा है तो अब इसकी वजह से हाई प्रोफाइल टेक कंपनी हुआवे मुश्किल में फंस गई है। इसके सितारे इस वक्त गर्दिश में नजर आ रहे हैं।

अमेरिका और ईरान के बीच तनाव बरकरार है। विदेश नीति के मोर्चे पर भारत के सामने ईरान से बड़ी चुनौती है। कूटनीतिक रूप से देखें भारत के लिए यह एक तूफान की तरह है। अगर ईरान और यूएस के बीच तनाव युद्ध में बदलता है, तो इसकी वजह से 70 लाख भारतीयों परिवारों की जिंदगी बुरी तरह प्रभावित हो सकती है।

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान की ओर से किसी भी तरह की उकसावे की कार्रवाई से ‘‘पूरी ताकत’’ से निपटने की धमकी दी है। हालांकि उन्होंने ईरान के साथ बातचीत करने की इच्छा भी जाहिर की है। ट्रंप ने सोमवार शाम पत्रकारों से कहा, ‘‘ अगर वे कुछ करते हैं तो उससे …

चीन और अमेरिका के बीच चल रहे ट्रेड वॉर की वजह से दोनों देशों को अरबों का नुकसान हो रहा है तो अब इसकी वजह से हाई प्रोफाइल टेक कंपनी हुआवे मुश्किल में फंस गई है। इसके सितारे इस वक्त गर्दिश में नजर आ रहे हैं।

अमेरिका और ईरान के बीच तनाव जारी है। इस बीच ईरान ने कहा है कि वह आसानी से खाड़ी देशों में अमेरिकी जहाजों को निशाना बना सकता है। हाल के दिनों में वॉशिंगटन और तेहरान के बीच तनाव अपने चरम पर है।

अमेरिकी राजनयिकों ने शनिवार को चेतावनी दी कि फारस की खाड़ी के ऊपर से गुजरने वाली वाणिज्यिक उड़ानों को जोखिम का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि उसके (अमेरिका) और ईरान के बीच तनाव बढ़ गया है।

सुरक्षा परिषद की यह बैठक वेनेजुएला में जारी राजनीतिक और मानवीय संकट पर संक्षिप्त चर्चा तथा देश में चल रहे गतिरोध को समाप्त करने के लिए ईयू समर्थित राजनयिक प्रयासों की जानकारी देने के लिए हुई थी। यह बैठक यूरोपीय देशों के अनुरोध पर हुई थी।

अमेरिका के अलास्का में पानी में उतरने में सक्षम दो विमान हवा में आपस में टकरा गए जिससे पांच लोगों की मौत हो गई और एक अन्य लापता है। इन विमानों में क्रूज पोत के पर्यटक सवार थे।

अमेरिकी वाणिज्य मंत्रालय ने बताया कि अमेरिका ने चीन और हांगकांग स्थित चार कंपनियों, दो अन्य चीनी कंपनियों, एक पाकिस्तानी कंपनी और संयुक्त अरब अमीरात के पांच लोगों को सूची में शामिल किया है।

सऊदी अरब ने सोमवार को कहा कि खाड़ी में रहस्यमय ‘‘ हमले’’ में उसके दो तेल टैंकरों को काफी नुकसान पहुंचा है। क्षेत्र में पहले ही अमेरिका और ईरान के बीच तनाव बढ़ा हुआ है।