uttarakhand

मिली जानकारी के मुताबिक इंदिरा नगर ठोकर निवासी टाइल्स ठेकेदार शाहिद रजा (35) अपने भांजे की शादी में शामिल होने के लिए अपने परिवार के साथ शुक्रवार को सितारगंज गए थे।

देशभर में किसान आंदोलन की आग लगातार जारी है। किसानों के द्वारा केंद्र सरकार के खिलाफ लगातार धरने प्रदर्शन के साथ-साथ वार्ता के बावजूद भी कोई हल न निकलने से सरकार के द्वारा लागू किये गए तीनों कृषि कानूनों के विरोध में अब महापंचायत का आयोजन कर रहे हैं।

मौसम का ये रुख उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में देखने को मिलेगा। जानकारी के मुताबिक, उत्तरकाशी, चमोली, पिथौरागढ़ के ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी हो सकती है।

सरकार के फैसले से क़रीब 35 लाख महिलाओं को फ़ायदा मिलेगा। नए अध्यादेश का मक़सद महिलाओं को आर्थिक तौर पर स्वतंत्र बनाना है। उत्तराखंड सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक का कहना है कि पैतृक संपत्ति जब बेटे के पास आएगी, तो बहू सह-खातेदार हो जाएगी।

एसडीएम अखिलेश यादव ने बताया कि निघासन के पीड़ित परिवार स्थानीय थाने में शपथ पत्र के साथ अपने परिजनों की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाने के साथ उनके मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करेंगे।

उत्तराखंड सरकार के कैबिनेट का विस्तार होना बिल्कुल तय हो गया है। ऐसे में यहां कैबिनेट विस्तार को पीएम नरेंद्र मोदी की हरी झंडी मिल गई है। बीते एक साल से अटके हुए कैबिनेट (Cabinet) का विस्तार अब होना तय है।

कर्णप्रयाग के सेमीग्वाड़ गांव के पास जंगल में लगी आग को गांव वाले जहां एक जगह की आग बुझाई ही थी, कि दूसरी तरफ सेमी गांव में फिर और भीषण आग लग गई। भयानक आग से सैकड़ों पेड़-पौधे जलकर नष्ट हो गए।

उत्तराखंड के चमोली में आई भीषण तबाही का कहर अभी भी बरकरार है। विनाशकारी बाढ़ का शिकार बने लोगों को अभी तक कोई अता-पता नहीं चला है। जिसके चलते अब राज्य सरकार ने आपदा के बाद लापता हुए 136 से अधिक लोगों को मृत घोषित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

मां गंगा की निर्मलता और अविरलता के लिए काम करने वाली संस्था मातृ सदन ने एक बार फिर से अनशन की घोषणा कर दी है। कल से मातृ सदन में परमाध्यक्ष स्वामी शिवानंद के शिष्य ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद अनशन पर बैठेंगे।

बीते दिनों उत्तराखंड में जल प्रलय हुआ। इस भयानक आपदा से भारी नुकासान हुआ। चमोली में ग्लेशियर फटने से आस पास के घरों को बहुत क्षति हुई है। इस जल प्रलय में अब तक 70 लोगों के शव बरामद किया जा चुका है। सुरंगों में फंसे लोगों को बचाने के लिए रेसक्यू ऑपेरशन चल रहा है इस रेसक्यू के दौरान अब तक 150 से भी ज्यादा लोग लापता बताए जा रहे है।