Uttarakhand Latest News

ग्लेशियर फटने से हाइड्रो पॉवर प्रोजेकेट बांध टूट गया। इस हाइड्रो पॉवर प्रोजेकेट बांध पर काम कर रहे सैकड़ों मजदूरों के बहने का अनुमान जताया गया है। इस हादसे ने आस-पास के घरों को अपने आगोश में ले लिया। जिसके कारण इस हादसे में  काफी लोगों के मरने की आशंका जताई गई है।

उत्तराखंड में सात फरवरी को आयी सैलाब में जानमाल की कापी क्षति हुई है। चमोली की ऋषिगंगा घाटी में आई तबाही से अब तक 50 लाशें बरामद कर लिया गया है। जबकि 162 अन्य अभी भी लापता हैं। इन लापता लोगों में तपोवन सुरंग में फंसे लोग भी शामिल हैं।

उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर फटने के कारण भारी त्रासदी हुई थी। सेना द्वारा बचाव कार्य जारी है। इस बीच देश में एक बार फिर बेमौसम बरसात होने के आसार हैं। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने देशभर के लिए 17 फरवरी तक के मौसम का पूर्वानुमान लगाया है।

रेस्‍क्‍यू टीम ने मुख्‍य टनल की सफाई कर टी प्‍वाइंट की तरफ बढ़ने की रणनीति पर काम करने का फैसला किया गया था लेकिन छह मीटर ड्रिल के बाद रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान टनल से पानी निकलने लगा, इसके बाद आनन-फानन में रेस्क्यू टीम और मशीनों को बाहर निकाल लिया गया है।

तपोवन की दूसरी सुरंग में फंसे लोगों को बाहर निकालने का काम जारी है। उत्तराखंड प्रशासन की ओर 202 लोगों के लापता होने की लिस्ट जारी की गई है। जहां ITBP के जवान रेस्क्यू में जुटे हैं और इस टीम को लीड कर रही हैं IPS ऑफिसर अपर्णा कुमार।

उत्तराखंड के जोशीमठ में आई भीषण तबाही के समय वहां स्थित तपोवन में पावर प्रोजेक्ट पर काम (मजदूरी) कर रहे निघासन तहसील क्षेत्र के गांव बाबू पुरवा, गांव भेरमपुर, गांव मांझा व गांव कड़िया के 50 से 60 युवक अभी तक लापता हैं।

भाजपा ने जहां पहले ही कदम उठाते हुए अपने सभी मंत्रियों, विधायकों को सक्रिय करते हुए भ्रमण पर भेजना शुरू कर दिया है। वहीं कांग्रेस भी तैयारी में जुट गई है। राज्य की सियासत में तेजी से सक्रिय हो रही आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने उत्तराखंड के दौरे शुरू कर दिए हैं।

उत्तराखंड के हल्द्वानी से एक ऐसा मामला सामने आया है जहा एक हेयर ड्रेसर को चुटिया काटना बेहद महंगा पड़ गया। अब चुटिया काटने वाले शख्स पर जेल जाने का खतरा मंडरा रहा है।

सरकार उत्तराखंड पुलिस को खुशखबरी देने वाली है सरकार। उन्हें छठे वेतनमान की सिफारिशों के तहत शासन उच्चीकृत वेतन ग्रेड पर एरियर की सौगात मिलने वाली है। हाईकोर्ट ने तीन समान किस्तों में एरियर का भुगतान करने का आदेश दिया था।

सामाजिक कल्याण अधिकारी दीपांकर घिडियाल ने बताया कि दूसरी जातियों और दूसरे धर्म में शादी करने वालों को दी जाने वाली राशि राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा देने में काफी मददगार साबित हो सकती है।