uttrakhand

गढ़वाल के टिहरी, पौड़ी, चमोली, रुद्रप्रयाग और कुमाऊं के हल्द्वानी, टनकपुर, लोहाघाट, बागेश्वर, द्वाराहाट की बसों का किराया करीब 15 रुपये तक बढ़ाया गया है, लेकिन बढ़ा हुआ किराया अभी बिलिंग मशीनों में दर्ज नहीं हुआ है।

पुलिस ने एसडीआरएफ की मदद से एक अज्ञात शव (नग्न अवस्था) में महर गांव के नीचे झील से और दूसरा अज्ञात शव डैम झील चैनल नंबर 5 से बाहर निकाला गया। आपदा के बाद से लापता 204 लोगों में से अलग-अलग जगहों से कुल 70 शव मिले हैं, तो वहीं 134 लोग अभी भी लापता हैं।

हिसार की रहने वाली डॉ ज्योति ने 3 दिन तक अस्पताल में बिना सोये हुए इस टनल से निकाले 12 मजदूरों को बचाने की ड्यूटी की। यह गर्भवती होने के बाद भी इन्होंने बड़ी ही ईमानदारी से अपनी ड्यूटी को निभाया।

अधिकारियों का कहना है कि अभी भी 197 लोग लापता हैं। रविवार को ग्लेशियर फटने के कारण भीषण बाढ़ आई। इस भयानक बाढ़ में 480 मेगावाट का तपोवन हाइड्रोपावर प्रोजेक्ट और ऋषिगंगा हाइडल प्रोजेक्ट तबाह हो चुका है।

Y- Factor | रोया था पूरा देश: भारत की ये बड़ी प्राकृतिक आपदाएं… | EP- 136  

उत्तराखंड में प्राकृतिक आपदा की वजह से लापात शिवपुरी के युवकों के परिवार में कोहराम मचा हुआ है। इन चारों परिवार के बेटे ग्लेशियर के बहाव के बाद लापता हैं। इनके नाम भानू प्रताप, गजेंद्र पवैया, सोनू लोधी और राकेश लोधी हैं।

दुनिया का सबसे खतरनाक ग्लेशियर की बात करे तो वह अंटार्कटिका का थ्वाइट्स गलेशियर(Thwaites Glacier) है। इस समय इस ग्लेशियर को लेकर काफी चर्चाएं चल रही है। अंटार्कटिका का यह ग्लेशियर पश्चिमी इलाके में स्थित है।

उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर फटने की इस घटना को देखते हुए ऋषभ पंत ने यहां के लोगों की मदद के लिए अपनी मैच फीस को देने का एलान किया है। लोगों से भी मदद करने की अपील की है।

अंतरिक्ष उपयोग केंद्र हिमालय के हिमाच्छादित क्षेत्रों, ग्लेशियरों और नदियों पर सेटेलाइट के द्वारा नियमित नजर बनाकर रखता है। इसके साथ ही लगातार मैपिंग भी होती है। ऋषिगंगा कैचमेंट में कुल 14 ग्लेशियर स्थित हैं।

चमौली में हुई त्रासदी क्या 2013 के केदारनाथ विभीषिका की पुनरावृत्ति है? इस पर चेतावनी व सावधानी जरूरी है क्योकि इसकी पुनरावृत्ति अब जल्दी-जल्दी होने की संभावना है।