varanasi

जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद सोमवार को जम्मू-कश्मीर की जेलों में बंद चार खूंखार आतंकियों को वाराणसी के सेंट्रल जेल शिफ्ट किया गया। कड़ी सुरक्षा के बीच इन आतंकियों को एयरपोर्ट से जेल लाया गया। आतंकियों की सुरक्षा के मद्देनजर जेल में चौकसी बढ़ा दी गई है।

पहाड़ी और मैदानी भागों में हो रही जोरदार बारिश का असर दिखने लगा है। पूर्वांचल के कई इलाकों में बाढ़ का खतरा बढ़ने लगा है। यहां पर गंगा अपना रौद्र रुप दिखाने लगी हैं। वाराणसी में गंगा नदी खतरे के निशान से चंद फासलों पर हैं। अगर एक या दो दिन में यही हालात रहें तो गंगा का पानी रिहाइशी इलाकों में घुस जाएगा।

उत्तर प्रदेश के वाराणसी स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर की आय में इस समय तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है। मंदिर की आय भक्तों के चढ़ावे से बढ़ रही है। काशी विश्वनाथ मंदिर की आय करोड़ रुपए प्रतिमाह हो गई जिसने पिछले रिकाॅर्ड को तोड़ दिए हैं।

वाराणसी:  मंडुवाडीह थानाध्यक्ष संजय त्रिपाठी की गिनती जिले के तेजतर्रार पुलिस अफसरों में होती है। अपराधियों के खिलाफ वो जितने सख्त हैं, आम लोगों के लिए उतने ही सर्व सुलभ। शायद यही कारण है कि जब उनका तबादला हुआ तो इलाके के लोगों ने उन्हें फूल माला से लाद दिया। विदाई देने के लिए थाने पहुंच …

एडीएम ने आरोपी से कहा कि अगर वह 50 पौधे लगाने के बाद उसका साक्ष्य अगर उपलब्ध कराए तो उसके ऊपर लगा गुंडा एक्ट वापस ले लिया जाएगा। एडीएम के इस फरमान को लेकर सोशल मीडिया पर खूब चर्चाएं हो रही हैं।

दोनों ही पर्व सकुशल सम्पन्न हो जाये। इसे लेकर सुबह से ही पुलिस के आलाधिकारी सड़कों पर नजर आए। आईजी विजय सिंह मीणा और कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने गोदौलिया से मैदागिन तक रुट मार्च किया।

ब्रांडेड कंपनियों की आड़ में नकली सामान बेचने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। पुलिस के मुताबिक मिलावटखोर लोगों की आंखों की धूल झोंकने के लिए नकली रैपर का सहारा लेते थे। नकली रैपर में मिलावटी सामान भरकर धड़ल्ले से बेचा जा रहा था।

बताया जा रहा है कि अमरनाथ के कहने पर ही वह सुशील सिंह की हत्या के लिए वाराणसी पहुंचा था। धोनी अपने साथियों अंजनी सिंह और मनीष केसरवानी के जरिये विधायक की रेकी करवा रहा था। वो अपने मंसूबे में कामयाब हो पाता, उससे पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया।

अगर पाकिस्तान शांति की भाषा नहीं बोलता है तो उसे दुनिया के नक्शे कदम से मिटा देना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर जरुर पड़े तो एक और सर्जिकल स्ट्राइक करनी चाहिए।

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का पार्थिव शरीर बुधवार की शाम पंचतत्व में विलीन हो गया। पूरे देश ने नम आंखों के साथ अपनी नेता को अंतिम विदाई दी। सुषमा स्वराज सिर्फ एक नेता या मंत्री नहीं थी बल्कि मानवीय मूल्यों के प्रति उन्होंने जो समर्पण दिखाया, उसे हर कोई याद कर रहा है।