vijay mallya

भगोड़ा शराब कारोबारी विजय माल्या की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट आज सुनवाई करेगा। आखरी बार जो सुनवाई हुई थी जिसमें माल्या की ओर से पैरवी करने आए उसके वरिष्ठ वकील फाली एस नरीमन ने कोर्ट से सुनवाई को टालने का आग्रह किया था।

प्रायोजन के मुद्दों को लेकर 2005 में गेल, वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड और कई खिलाड़ियों के बीच हो रहे विवाद में शामिल थे। वहीं एक बार फिर 2006 में न्यूजीलैंड के खिलाफ एक टेस्ट मैच के दौरान उन पर क्रिकेट की भावना के विपरीत व्यवहार करने का आरोप लगाया गया। मगर बाद में पाया गया कि वह दोषी नहीं थे।

ब्रिटेन की एक अदालत में भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण मामले में मंगलवार को सुनवाई होगी। माल्या ने ब्रिटेन के गृह मंत्री साजिद जाविद द्वारा उनके प्रत्यर्पण के आदेश पर हस्ताक्षर करने के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील करने की अनुमति मांगी है।

भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी और शराब कारोबारी विजय माल्या को भारत लाने के बाद मुंबई की आर्थर रोड की जेल की एक ही कोठरी में रखा जा सकता है।

भगोड़ा विजय माल्या रविवार को भारत-ऑस्ट्रेलिया का मैच देखने के लिए लंदन के ओवल ग्राउंड पहुंचा। मैच खत्म होने के बाद जैसे ही स्टेडियम से बाहर आया तो भीड़ ने उसे घेर लिया और चोर-चोर के नारे लगाए। इस दौरान माल्या की मां ललिता भी साथ थी।

भगोड़े विजय माल्या ने एसबीआई पर करदाताओं का पैसा ब्रिटेन में मुकदमे पर बर्बाद करने का आरोप लगाया है। माल्या ने ट्विटर पर लिखा, एसबीआई की अगुवाई वाला सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का समूह गलत तरीके से ब्रिटेन की अदालतों में उसके पीछे पड़ा है।

भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या को ब्रिटेन की कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने माल्या की प्रत्यर्पण रोकने वाली याचिका खारिज कर दी है। लंदन की अदालत ने विजय माल्या को प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील करने की अनुमति नहीं दी।

शराब कारोबारी विजय माल्या जो कभी रईसों और ऐशो-आराम की जिंदगी जिया करता था वह अब दिवालिया हो चुका है और उसे जीवनयापन के लिए अपनी पत्नी/पार्टनर, निजी सहायक, परिचित कारोबारियों और अपने बच्चों पर निर्भर होना पड़ रहा है। बुधवार को उसने ब्रिटेन की अदालत में अपनी बदहाल जिंदगी की दास्तां सुनाई।

भगोड़े कारोबारी विजय माल्या ने सोमवार को बंबई उच्च न्यायालय से कहा कि नये भगोड़े आर्थिक अपराधी कानून के तहत उसकी संपत्तियों को जब्त करना क्रूर कदम है और इससे कर्जदाताओं को कोई फायदा नहीं होगा।

वित्तीय संकट का सामना कर रही जेट एयरवेज को बचाने के लिए भारतीय स्टेट बैंक की अगुआई में बैंकों द्वारा कंपनी का प्रबंधन अपने हाथों में लेने के बाद माल्या ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए। माल्या ने कहा , "मेरी इच्छा थी कि किंगफिशर के लिए भी ऐसा ही किया जाता।’’