Vikas Dubey encounter

उत्तर प्रदेश के कानपुर में थाना चौबेपुर के अंतर्गत दो व तीन जुलाई की मध्य रात्रि हुए बिकरू कांड को लेकर पुलिस की जांच अब अपराधी विकास दुबे के दोनों बेटों तक जा पहुंची है।

एनकाउंटर में मारे गए गैंगस्टर विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे का बड़ा बयान सामने आया है। एक इंटरव्यू में ऋचा ने अपने पति के खिलाफ ही भड़ास निकालते हुए कहा कि अगर मुझे पता होता तो मैं खुद विकास दुबे को गोली मार देती। उसके कारण 17 घर बर्बाद हो गए।

कानपुर के दुर्दांत गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर मामले में बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान कोर्ट ने यूपी सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि वे सुनिश्चित करे कि राज्य में ऐसी घटना की पुनरावृत्ति न हो।

आखिर क्या वजह थी कि पुलिस को विकास दुबे का एनकाउंटर करना पड़ा? आज हम आपको बताते हैं कि वो कौन था जिसने विकास दुबे की हत्या की साजिश रची थी, यानि कि कौन था कानपुर कांड का सूत्रधार ।

इससे पहले बीती 17 जुलाई को उत्तर प्रदेश पुलिस ने विकास दुबे और उसके सहयोगियों के मुठभेड़ में मारे जाने की घटना की उच्चस्तरीय जांच की मांग वाली दो याचिकाओं पर शीर्ष कोर्ट के समक्ष विस्तृत जवाब पेश किया था। पुलिस

कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपी मास्टरमाइंड विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आ गई है। रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि विकास को तीन गोलियां लगी थी। जो कि शरीर के पार निकल गई थी।

कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपी विकास दुबे के एनकाउन्टर पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। सवाल की आंच यूपी सरकार तक पहुंच चुकी है। मामला सुप्रीम कोर्ट में है।

विकास दुबे के एनकाउंटर में मारे जाने के बाद से पुलिस और एसटीएफ के अधिकारियों पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। जिस परिस्थिति में विकास का एनकाउंटर हुआ वो विवादों में घिर गई है।

यूपी के कानपुर में चौबेपुर के बिकरू गांव में 2 जुलाई की रात 8 बजे की बात है। जब 8 पुलिसकर्मियों की माफिया विकास दुबे ने हत्या की थी, उसकी पूरी कहानी यूपी एसटीएफ की तरफ से दर्ज एफआईआर में सामने आई है।

कानपुर में आठ पुलिस कर्मियों की हत्या के आरोपी विकास दुबे के एनकाउन्टर के बाद जांच एजेंसियों ने पड़ताल तेज कर दी है। इस कड़ी में जांच अधिकारियों के हाथ फोन पर बातचीत का एक आडियो क्लिप लगा है।