virtual rally

कोरोना महामारी के बीच अक्तूबर- नवंबर में बिहार विधानसभा चुनाव होने जा रहा है। देश का ये पहला चुनाव होगा जो कोरोना काल में ही सम्पन्न होगा। इस बार के चुनाव में कई बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे।

कोरोना संकट के कारण लोगों की भीड़ जुटाना खतरे से खाली नहीं। ऐसे में अब शुरू हुआ है वर्चुअल रैली का दौर। क्या है वर्चुअल रैली, ये कितनी असरदार होगी?

केंद्रीय गृह मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को अपनी पार्टी के लिए बिहार में पहली वर्चुअल रैली 'बिहार जनसंवाद' को संबोधित किया। शाह ने यहां कहा कि वर्चुअल रैली का चुनाव से लेना-देना नहीं, ये आत्मनिर्भर भारत की तैयारी है।

रविवार का दिन बिहार के लिए सियासत का सुपर सन्डे साबित होने वाला है। बीजेपी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शाम 4 बजे बिहार में वर्चुअल रैली के जरिये 72 हजार बूथों पर कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करने वाले हैं।

बीजेपी फॉर बिहार लाइव के माध्यम से सभी 243 विधानसभा सीटों के 72 हजार बूथों पर अमित शाह बीजेपी के लाखों कार्यकर्ताओं और नेताओं से जुड़ेंगे।इसके साथ ही आज से बिहार में बीजेपी की तरफ से विधानसभा चुनाव का बिगुल फूंका जाएगा।

बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने बीजेपी पर निशाना साधा है। तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को टारगेट करते हुए एनडीए सरकार पर प्रवासी मजदूरों के साथ सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाया।