vishnu

परशुराम शिव के परम भक्त थे। इनका नाम तो राम था, किन्तु शिव द्वारा प्रदत्त अमोघ परशु को सदैव धारण किए रहने के कारण ये परशुराम कहलाते थे। कहते हैं कि उनका जन्म उत्तर प्रदेश के बलिया के खैराडीह में अक्षय तृतीया को हुआ था।

जयपुर: चांदी की उत्पति भगवान शिव के नेत्रों से माना गया है। शास्त्रों अनुसार, जहां चांदी होता है वहां वैभव और संपन्नता आती है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यह शुक्र और चंद्रमा ग्रह से जुड़ी हुई धातु है। यह शरीर में जल तत्व और कफ को नियंत्रित करता है, इसके अलावा खूबसूरती और सुख-समृद्धि बढ़ाने …

लखनऊ:  परशुराम अपने पिता जमदग्नि के परम भक्त थे। वे उन्हें परमात्मा मानकर उनका सम्मान किया करते थे। जमदाग्नि बहुत बड़े योगी थे। उन्होंने योग से सिद्धियां प्राप्त की थीं। सवेरे का समय था, जमदाग्नि की पूजा का समय हो गया था। परशुराम की मां रेणुका जमदग्नि के स्नान के लिए जल लाने के लिए …

लखनऊ: प्रेम और शादी की बदलती धारणा में भी आजकल के युवा प्यार और पार्टनर को लेकर गंभीर होते हैं, जब उन्हें किसी से प्यार होता है तो वे यही चाहते हैं कि जिससे वे प्यार हो उसके साथ जीवन भर रह सकें। लेकिन कई बार परिस्थितियां विपरित होने से लोगों को प्यार में सफलता …

लखनऊ: हिंदू पंचाग के अनुसार आठवां मास कार्तिक मास पापों के नाश का मास और मुक्ति का मार्ग दिखाने वाला मास है,जो भगवान विष्णु को अति प्रिय है। कार्तिक मास की शुरुआत के साथ ही धर्म कार्यों परकाष्ठा बढ़ जाती है। पुराणों में भी कार्तिक मास की चर्चा मासोत्तम मासे कार्तिक मास से शुरू होती …

लखनऊ:  परशुराम अपने पिता जमदग्नि के परम भक्त थे। वे उन्हें परमात्मा मानकर उनका सम्मान किया करते थे। जमदाग्नि बहुत बड़े योगी थे। उन्होंने योग से सिद्धियां प्राप्त की थीं। सवेरे का समय था, जमदाग्नि की पूजा का समय हो गया था। परशुराम की मां रेणुका जमदग्नि के स्नान के लिए जल लाने के लिए …

लखनऊ: हिंदू धर्म को सबसे पुरातन धर्म माना जाता है। कहा जाता है सृष्टि की उत्पत्ति के साथ ही इस धर्म की उत्पत्ति हुई है। इस धर्म के ग्रंथ,वेद-पुराण में बहुत सी ऐसी बातें लिखी गई है जिसके शाश्वत प्रमाण भी मिलते है। पूरी सृष्टि की रचना में जितने भी सजीव और निर्जीव वस्तुएं है …