vodafone

ग्राहकों को अपने साथ जोड़े रखने के लिए टेलीकॉम कंपनियों में जबरदस्त कम्पीटशन चल रहा है। इसकी वजह से ग्राहकों को फायदा हो रहा है। सभी कंपनियां ग्राहकों की संख्या बढ़ाने के लिए आकर्षक प्लान ला रही हैं।

देश में म्यूचुअल फंड निवेश का सबसे बड़ा जरिया बन गए हैं। कुछ म्यूचुअल फंड कंपनियों ने वोडाफोन-आइडिया में करीब 3376 करोड़ रुपये का निवेश कर रखा है। ये घाटे से बेहाल हुई सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी है। ऐसे में अगर टेलीकॉम कंपनी दिवालिया होगी तो इन म्यूचुअल फंड कंपनियों  पर भी असर दिखेगा। 

भारत में ऐसा पहली बार हुआ है जब मोबाइल फोन वोडाफोन आइडिया के चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही यानी जुलाई-सितंबर में 50,921 करोड़ रुपए का रिकॉर्ड घाटा हुआ है।

देश में टेलीकॉम कंपंनियों की बढ़ती प्रतिस्पर्धा को देखते हुए वोडाफोन सामने आया है। उसने कहा है कि भारत में उसका भविष्य तबतक अधर में रहेगा जबतक सरकार ऑपरेटरों पर ज्यादा टैक्स और चार्ज लगाती रहेगी।

ब्रिटेन की टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन ने बताया कि वह भारतीय बाजार में निवेश बनाये रखेगी और मौजूदा चुनौती से निकलने के लिए सरकार से मदद मांग रही है।

कंपनी ने 20 रुपये के प्लान की तरह ही 30 रुपये के प्लान को भी गिने-चुने सर्किल में ही लॉन्च किया है। लेकिन जल्द ही कंपनी इस प्लान को दूसरे सर्किलों में भी उपलब्ध कर सकती है।

ग्राहकों को लुभाने के लिए टेलीकॉम कंपनियां आए दिन नए-नए ऑफर पेश करती रहती हैं। वोडाफोन के प्रीपेड प्लान्स में सीमित समय के लिए डबल डेटा बेनिफिट मिल रहा है। वोडाफोन 199 रुपये और 399 रुपये वाले पॉपुलर प्रीपेड प्लान्स में डबल डेटा बेनिफिट्स दे रहा है।

रिलायंस जियो कॉलिंग के लिए पैसे लेने की घोषणा की है। अब जियो से अब दूसरे नेटवर्क पर कॉल करने के पैसे लगेंगे। अब जियो ग्राहकों को दूसरी टेलीकाॅम कंपनी पर कॉलिंग के लिए एक नया टॉप-अप रिचार्ज कराना होगा।

टेलीकॉम ऑपरेटर भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने अपने नेटवर्क से बाहर जाने वाली आउटगोइंग कॉल्स पर रिंग टाइम को घटाकर 25 सेकेंड कर दिया है। रिंग टाइम का आशय कॉल आने के समय फोन पर बजने वाली घंटी से है।

वर्तमान समय में टेलीकॉम कंपनियों में मारामारी चल रही है। ग्राहकों को अपने साथ जोड़ने रखने के लिए सभी सभी कंपनियां आए दिन नए-नए ऑफर पेश कर रही है। जियो सबसे ज्यादा प्लान पेश करती है।