wednesday

जयपुर माह – कार्तिक, तिथि – तृतीया , पक्ष – कृष्ण,वार – बुधवार,नक्षत्र – भरणी ,सूर्योदय – 06:22, सूर्यास्त – 17:51, लाभ – 06:25 से 07:50, अमृत – 07:50 से 09:15,शुभ – 10:41 से 12:06,चर – 14:56 से 16:21

माह – आश्विन, तिथि – एकादशी, पक्ष – शुक्ल, वार – बुधवार, नक्षत्र – धनिष्ठा, सूर्योदय – 06:18,सूर्यास्त – 17:58, चौघड़िया लाभ – 06:22 से 07:48,अमृत – 07:48 से 09:15,शुभ – 10:42 से 12:08,चर – 15:01 से 16:28। आज एकादशी तिथि है। व्रत उपवास के लिए ये दिन उत्तम है।

माह-भाद्रपद, तिथि-त्रयोदशी, पक्ष-शुक्ल,वार-बुधवार,नक्षत्र – श्रवण,सूर्योदय-06:03,सूर्यास्त- 18:31, राहुकाल – 12:17:43 से 13:51:12 तक, चौघड़िया- लाभ – 06:08 से 07:40,अमृत – 07:40 से 09:13,शुभ – 10:45 से 12:18,चर – 15:23 से 16:55,लाभ – 16:55 से 18:28।

माह- भाद्रपद,तिथि-षष्ठी, पक्ष – शुक्ल,वार- बुधवार,नक्षत्र – विशाखा, सूर्योदय-06:00,सूर्यास्त-18:39, राहुकाल – 12:20 से 13:55 तक,लाभ-06:04 से 07:38, अमृत  07:3- से 09:12,शुभ-10:46 से 12:20, चर - 15:28 से 17:02,लाभ-17:02 से 18:36।

पक्ष-कृष्ण,पक्ष,वार-बुधवार,तिथि-त्रयोदशी,नक्षत्र- पुष्य,सूर्य राशि  सिंह,चंद्र राशि-कर्क,राहुकाल-12:22 - 13:58, सूर्योदय-05:57 ,सूर्यास्त-18:48 । भगवान विष्णु की पूजा से अपने दिन की शुरुआत करें। उत्तम फल मिलेगा।

जयपुर बुधवार को पैसे  कमाने के लिए नए विचारों का उपयोग करें, इस दिन आपका जीवनसाथी आपकी वजह से दुःखी होगा। माह – श्रावण, तिथि – चतुर्दशी – 11:58, नक्षत्र – पुनर्वसु – 14:41,करण – शकुनि, पक्ष – कृष्ण, योग – वज्र – 19:05:01 तक, वार – बुधवार,सूर्योदय – 05:41, सूर्यास्त – 19:13 मेष 31 जुलाई को कुछ ऐसी घटनाएँ आपकी परेशानी का कारण …

वार-बुधवार, माह-श्रावण, पक्ष-कृष्ण, तिथि- सप्तमी 06:05 तक, नक्षत्र- रेवती 03:43 तक फिर अश्वनी,करण-बव 06:05 तक फिर बालव,चंद्र राशि- मीन, स्वामी,ग्रह-गुरु ,राहुकाल-दोपहर 12 बजे से 01:30 बजे तक

बीच राह में पत्नी को इस तरह लुटा देखकर वह व्यक्ति मन ही मन शंकर भगवान की प्रार्थना करने लगा कि हे भगवान मुझे और मेरी पत्नी को इस मुसीबत से बचा लो, मैंने बुधवार के दिन अपनी पत्नी को विदा कराकर जो अपराध किया है उसके लिये मुझे क्षमा करो।

वार - बुधवार,माह - आषाढ़,पक्ष - शुक्ल,तिथि - नवमी,नक्षत्र - चित्रा04:25 तक फिर स्वाती,करण - बालव02:45 तक फिर कौलव,सूर्य राशि - मिथुन,स्वामीग्रह-बुध,चंद्र राशि - तुला ,स्वामीग्रह-शुक्र, राहुकाल-दोपहर 12 से 01:30बजे तक।

तिथि वैशाख शुक्ल पक्ष चतुर्थी 24.58 तक, नक्षत्र मृगशिरा नक्षत्र 15.59 तक, पक्ष-शुक्ल पक्ष,वार बुधवार,योग सुकर्मा योग 21.16 तक, सूर्योदय 05.39,सूर्यास्त 18.56।