west bengal

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने में अभी एक साल का समय बचा है और  भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह ने चुनाव की तैयारी अभी से शुरू कर दी है। चुनावी रणनीति बनाने में कहीं कोई चूक न रहे और इस मामले में भाषा आड़े न आए, इसके लिए  बीजेपी अध्यक्ष बांग्ला भाषा सीख रहे हैं।

दुर्गापुर: पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में मंगलवार को ब्रिज (Bridge) के नीचे एक ट्रक फंस गया है। ट्रक भारतीय पोस्ट के सेवामुक्त विमान (aircraft) को ले जा रहा था। विमान से लदे ट्रक को देखने के लिए क्षेत्र के लोगों का जमावड़ा लग गया है। वहीं मौके पर पहुंचे अधिकारी ब्रिज के नीचे फंसे ट्रक को …

पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सरकार को कोलकाता हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है। केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लाए गए नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ में टीएमसी और खुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कई रैलियां की हैं।

नागरिकता संशोधन कानून बनने के बाद से इसके खिलाफ विरोध-प्रदर्शन रुकने का नाम नहीं ले रहा है। अब इसके खिलाफ विरोध-प्रदर्शन ने हिंसा का रूप ले लिया है। देश के उत्तर पूर्व से लेकर दक्षिण तक लोग इस कानून के खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं।

नागरिकता (संशोधन) कानून के खिलाफ लगातार दूसरे दिन शनिवार को भी देश के कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन किए गए। हालांकि असम, त्रिपुरा, नगालैंड समेत पूर्वोत्तर के राज्यों में कोई हिंसक वारदात नहीं हुई। वहीं पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों में हिंसक प्रदर्शन हुए।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ राज्य में विभिन्न स्थानों पर हिंसक प्रदर्शन और तोड़फोड़ करने वालों को शनिवार को कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी।

नागरिकता संशोधन कानून  का विरोध कर रहे हजारों प्रदर्शनकारियों ने पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में शुक्रवार को बेलडांगा स्टेशन में आग लगा दी और वहां तैनात आरपीएफ कर्मियों के साथ मारपीट की। जिला पुलिस के सूत्रों के अनुसार जिले में कई अल्पसंख्यक संगठनों ने बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया है।

लोकसभा से नागरिकता संशोधन बिल पास हो गया है। इस बिल के खिलाफ असम से लकर पश्चिम बंगाल तक विरोध हो रहा है। नॉर्थ ईस्ट स्टूडेंट्स ऑर्गनाइजेशन (NESO) और ऑल असम स्टूडेंट यूनियन (AASU) ने मंगलावर सुबह 5 बजे से शाम 5 बजे तक 12 घंटे का बंद बुलाया हुआ है।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने अपने तीखे बोल बोलते हुए सीएम ममता बनर्जी निशाना साधा।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को राज्य विधानसभा के द्वार संख्या तीन के सामने इंतजार करना पड़ा क्योंकि राज्यपाल के प्रवेश के लिए मुख्य द्वार बंद था।