west bengal

पश्चिम बंगाल में बढ़ती राजनीतिक हिंसा और डॉक्टरों की हड़ताल को लेकर केंद्र सरकार ने ममता बनर्जी सरकार से रिपोर्ट मांगी है और पूछा है कि इन घटनाओें को रोकने के लिए राज्य सरकार ने क्या कदम उठाए हैं। केंद्र सरकार ने एडवाइजरी भी जारी की है।

म बंगाल जल रहा है राजनीतिक हिंसा की रफतार कम नहीं हो रही है। मुर्शिदाबाद जिले के डोमकल में आज सुबह बम फेंका गया और गोलियां तड़तड़ाई। हिंसा में तीन लोग मारे गए।

पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों की हड़ताल का मुद्दा राष्ट्रीय बन गया है। कई राज्यों के डॉक्टरों ने पश्चिम बंगाल के डॉक्टरों का समर्थन किया है। दिल्ली स्थिति एम्स और कई अन्य अहम संस्थाओं के डॉक्टर हड़ताल पर हैं।

लोकसभा चुनाव के बाद भी पश्चिम बंगाल में बीजेपी और टीएमसी के बीच राजनीतिक लड़ाई जारी है। बीजेपी राज्य में अपना विस्तार करने में लगी है तो वहीं ममता बनर्जी भी हमलावर हैं। शुक्रवार को नॉर्थ 24 परगना में ममता बनर्जी ने एक रैली को संबोधित किया।

डॉक्टरों के खिलाफ हुई हिंसा को लेकर पश्चिम बंगाल की ममता सरकार चौतरफा घिरती दिखाई दे रही है। कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज में दो जूनियर डॉक्टरों पर हमला होने के बाद पश्चिम बंगाल के जूनियर डॉक्टर मंगलवार से हड़ताल पर हैं।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बृहस्पतिवार को कहा कि भले ही पार्टी ने हालिया लोकसभा चुनाव में अब तक का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन किया हो लेकिन अभी शिखर पर पहुंचना बाकी है। उन्होंने पार्टी नेताओं से संगठन का नये क्षेत्रों में विस्तार करने तथा नए लोगों को पार्टी से जोड़ने के लिए भी कहा।

पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव बाद राजनीतिक हिंसा जारी है। इस पर सियासी तूफान खड़ा हो गया है जो मंगलवार को दिल्ली पहुंच गया। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने सोमवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की।

पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच का टकराव लोकसभा चुनाव के बाद भी खत्म नहीं होता दिख रहा है।

पश्चिम बंगाल में जारी हिंसा को लेकर गृह मंत्रालय ने गहरी चिंता जताते एडवाइजरी जारी की थी। इस एडवाइजरी में प्रदेश की ममता सरकार को नागरिकों में विश्वास बनाए रखने में विफल बताया था। एडवाइजरी के जवाब में पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव ने गृह मंत्रालय को एक पत्र लिखा है।

पश्चिम बंगाल में मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी और बीजेपी के बीच चल रही राजनीतिक लड़ाई लोकसभा चुनाव के बाद और तेज हो गई है। अब इन दोनों पार्टियों की वजह से डाक विभाग के लिए संकट पैदा हो गया है।