Winter

एक बार फिर से गर्मी का सीजन आने की बजाय सर्दी का सीतम लौटता दिखाई दे रहा है। इस बारे में मौसम विभाग ने 21 फरवरी से 25 फरवरी के बीच पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की संभावना जाहिर की है। जिसकी वजह से पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय (western disturbance) होने के कारण मौसम तेजी से बिगड़ रहा है।

मौसम विभाग ने एक बार फिर बारिश का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के मुताबिक, 21 फरवरी को उत्तरी और उत्तरी पूर्वी राज्यों में बारिश होने की संभावना है।

प्रदेश के 9 जिलों में ओला वृष्टि के साथ ही वज्रपात और गर्जन की संभावना है। वहीं, 8 से 21 फरवरी तक तापमान अधिकतम 26 से 28 डिग्री और न्यूनतम 13 से 15 डिग्री के बीच रहेगा।

बर्फ में पैंट जमने के बाद उन्हें सड़कों पर खड़ा कर दिया गया है। इन तस्वीरों को शेयर करते हुए एक ट्विटर यूजर्स ने लिखा है कि ये खाली पैंट हैं। इसका जो हाल हुआ है, उसके लिए भारी बर्फबारी और सर्दी जिम्मेदार है।

ज्यादातर लोग ठंड से बेहाल नज़र आये, कोई कूड़ा जमा कर उसमे आग जलाकर अपने जिस्म को गर्मी देता हुआ नजर आया, तो कोई कहीं जल रहे अलाव पर कुछ देर रुक कर गर्माहट लेने की कोशिश करता रहा।

सर्द मौसम भलेही सैलानियों के लिए मौज मस्ती लेने वाला हो लेकिन देश के किसान के लिए यह मौसम सितम बनकर जान लेवा होता जा रहा है।

वही दूसरी घटना पाली इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य विनोद यादव अपनी बेटी सानिया को स्कूल छोड़ने जा रहे थे। तभी अज्ञात कार ने टक्कर मार दी दोनो गंभीर घायल हो गए।

बर्फबारी की वजह से पहाड़ों पर रह रहे लोगों की भागती सी जिंदगी में रूकावटें आ गई है। गिरते तापमान की वजह दिल्ली-एनसीआर समेत पंजाब से लेकर मेघालय तक मैदानी इलाकों में घने कोहरे ने लोगों की मुश्किलों को बहुत हद तक बढ़ा दिया है।

उत्तर भारत के अधिकांश हिस्सों में तापमान बहुत नीचे आ गया और बर्फीली हवाओं ने ठिठुरन को कई गुना बढ़ा दिया है। ऐसे में भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अगले 3 दिन के लिए उत्‍तर भारत के कई हिस्‍सों में कड़ाके की ठंड पड़ने का पूर्वानुमान जाहिर किया है।

भयंकर ठंड में किसानों की मौत की खबरें रोज आ रही हैं। लेकिन उन्होंने अहिंसक सत्याग्रह का अनुपम उदाहरण पेश किया है। संतोष का विषय है कि इन दोनों प्रांतों के किसान काफी मालदार और दमदार हैं।