world

देश में कोरोना के संक्रमण की रफ्तार में लगातार भारी तेजी दर्ज की जा रही है। शनिवार को रिकॉर्ड 24000 से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए।

रूस के ऐतिहासिक विजय दिवस यानी विक्ट्री डे की परेड की खास माने होते हैं। ये परेड दूसरे विश्व युद्ध में सोवियत सेनाओं की विजय और पराक्रम की याद में आयोजित की जाती है।

लॉकडाउन को अब समाप्त करने की दिशा में भारत समेत कई देश आगे बढ़ रहे हैं। भारत में जुलाई से स्कूल खोलने की बात हो रही है।

पूरी दुनिया में कोहराम मचाने वाले कोरोना वायरस के संबंध में विभिन्न देशों में तरह-तरह के अध्ययन किए जा रहे हैं। इस वायरस के संबंध में किए गए एक नए अध्ययन में वैज्ञानिकों का कहना है कि यह बीमारी इतना जल्दी इंसानों का पीछा नहीं छोड़ने वाली है।

कोविड-19 के कारण इन दिनों दुनिया के कामकाज का संचालन रिमोट से हो रहा है। यूनाइटेड किंगडम की संसद का नजारा देखें तो वहाँ सभी बेंचें खाली नजर आती हैं। सिर्फ प्रधानमंत्री बोरिस जानसन और उनके चंद सांसद इधर उधर बैठे नजर आते हैं।

बात ये है कि अफ्रीकी के नाइजर में बड़े पैमाने पर रेत की आंधी आई। जिससे एकदम अचानक से पूरा आसमान लाल हो गया। एकदम से आकाश का रंग बदल गया। लोग इसे देखकर परेशान हो गए और डर गए।

दुनिया में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण और हो रही मौतों के बाद भी ईरान की एक एयरलाइन ने कई देशों में अपनी सेवाएं जारी रखी हैं। इसके साथ ही कोरोना संक्रमित मरीजों को भी विमान में सफर कराया गया।

कोरोना वायरस ने दुनियाभर में तबाही मचा कर रख दी है। चीन के वुहान से फैले इस वायरस की कई देशों की अर्थव्‍यवस्‍थाओं को चौपट कर दिया है। कुछ देशों के इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर को चोट पहुंची है तो कहीं प्रोडक्‍शन बंद होने की वजह से कंपनियां दूसरी जगहों पर जाने की तौयारी कर रही हैं।

पूरी दुनिया में जिस तरह से कोरोना वायरस ने तबाही मचा रखी है। उसके चलते लगभग सभी देशों में बहुत से बदलाव हो गए हैं। अधिकतर देशों में लॉकडाउन जारी किया गया।

पूरी दुनिया में छाए कोरोना संकट के बीच मोदी सरकार के सामने एक बड़ी चुनौती विदेश में फंसे भारतीयों के स्वदेश वापसी की है। दुनिया के विभिन्न देशों में फंसे भारतीयों की स्वदेश वापसी के लिए सरकार बड़ा अभियान चलाने की कोशिश में जुटी हुई है।