world war

सिक्किम से लगे हुए बॉर्डर पर भारत और चीन के सैनिकों में टकराव हुआ। हालांकि इस समय रहते ही सुलझा लिया गया। लेकिन इसके बाद अब भारत की विवादित सीमा के लद्दाख क्षेत्र में चीन दांव-पेंच कस रहा है।

कासिम सुलेमानी को अपनी हत्या का अंदेशा काफी समय पहले ही हो गया था। मौत से करीब दो घटे पहले जनरल कासिम सुलेमान ने अपने परिवार और दोस्तों के लिए पत्र में कुछ खास बातें लिखी थी।

इसमें उसे कुछ देशों के सशस्त्र चरमपंथी गुटों का समर्थन मिल सकता है। अमेरिका के खिलाफ ईरान के इस तरह के युद्ध में उसे लेबनान, यमन, इराक और सीरिया का समर्थन मिल सकता है।

हाल की कुछ घटनाओं ने यह चिंता पैदा कर दी है कि अगर इन दोनों के बीच बढ़ते तनाव को कम नहीं किया गया तो एक नया वैश्विक संकट दुनिया के तमाम देशों की मुश्किलें बढ़ाने आ सकता है।

जल को लेकर विभिन्न प्रांतों और देशों में तकरार होता ही रहता है, ऐसे में कोलकाता की कंपनी एकेवीओ ने नवाचार के क्षेत्र में पहल करते हुए पानी की समस्या को हल करने की पहल की है।

राज्य सरकार के आदेश के मुताबिक, पूर्व सैनिकों और उनकी विधवाओं को भरण-पोषण के लिए दिए जा रहे पेंशन की राशि में इसी माह से बढ़ोत्तरी होगी। सैनिक कल्याण और पुनर्वास डायरेक्टर ब्रिगेडियर अमूल्य मोहन के मुताबिक, इस समय राज्य में सेकेंड वर्ल्ड वार के कुल 4615 पूर्व सैनिक हैं।