worship of Tulsi

भगवान विष्‍णु को तुलसी बहुत ही प्रिय हैं। भगवान कहते हैं कि एक ओर रत्‍न, मणि तथा स्‍वर्ण निर्मित बहुत से पुल चढ़ाये जाएं और दूसरी ओर तुलसी दल चढ़ाया जाए तो वे तुलसी दल को ही पसंद करेंगे। स्‍कंदपुराण के अनुसार भगवान विष्‍णु कहते हैं कि यदि सच पूछा जाए तो वे तुलसीदल की सोलहवी कला की भी समता नहीं कर सकते-