Yogi Cabinet

इन मंत्रियों का न प्रोटोकॉल होगा और न ही इतवार की छुट्टी होगी। कॉपी-कलम उठाकर योगी सरकार के मंत्री रविवार को सुबह 9 बजे आईआईएम लखनऊ पहुंचेंगे। क्लास में दाखिल होंगे। इंटरवल होगा और फिर क्लास में दाखिल। शाम तक इस सिलसिले के साथ कुछ किताबें, कुछ प्रबंधन साहित्य और कुछ 'होमवर्क' लेकर अगले चरण के लिए घर लौटेंगे।

प्रदेश की ढाई साल पुरानी योगी सरकार में पहला फेरबदल बुधवार को होने जा रहा है। इसके लिए सारी तैयारियां की जा चुकी हैं। 21 अगस्त को सुबह 11 बजे राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया जाएगा। जिसमें राज्यपाल आनंदी बेन पटेल नए मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगी।

4 से 6 मंत्रियों को हटाने के बाद मंत्रिमंडल विस्तार में 8-12 नए चेहरों को एंट्री दी जाएगी। बता दें, जब मंत्रियों ने 19 मार्च 2017 को शपथ ली थी, तब कैबिनेट में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा 24 कैबिनेट मंत्री, 9 स्वतंत्र प्रभार और 13 राज्यमंत्री थे।

कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने शनिवार को योगी कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया। उनके पास महिला कल्याण, परिवार कल्याण, मातृत्व, बाल कल्याण और पर्यटन मंत्री का कार्यभार था। लखनऊ कैंट से विधायक रहीं रीता बहुगुणा जोशी इलाहाबाद से सांसद चुनी गई हैं।

उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा अध्यापक सेवा नियमावली 1981 में संशोधन का प्रस्ताव कैबिनेट में मंजूर हुआ है। अब प्रदेश के जूनियर बेसिक स्कूलों यानी पहली से पांचवी कक्षा तक बीएड डि‍ग्री धारक भी प्राथमिक सहायक अध्यापक बन सकेंगे।

पचहत्तर पार के फार्मूले पर छुट्टी के सिद्धांत पर अमल के चलते ही लालकृष्ण आडवाणी और डा.मुरली मनोहर जोशी मार्गदर्शक मंडल के सदस्य बने। यही नहीं लोकसभा की स्पीकर रहीं सुमित्रा महाजन को पचहत्तर पार होने के चलते ही लोकसभा के टिकट से वंचित होना पड़ा।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के प्रमुख ओमप्रकाश राजभर और बीजेपी के बीच महीनों से जारी उठा-पटक का आखिरकार पटाक्षेप हो गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित सभी मंत्रियों ने संगम में स्नान किया। ज्यादातर मंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही डुबकी लगाए। इस दौरान कुछ मंत्री गंगा में मस्ती के मूड में भी नजर आये।