यहां सरनेम में लगता है जानवरों का नाम, जानिए देश के कुछ अनोखे गांव के बारे में

गावों में ही मिलता हैं।देश के ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहे हैं जो अपनी अनोखी विशेषता के चलते पूरे विश्व में जाने जाते है और यहां जाना आपके लिए एक अद्भुद अहसास होता हैं। तो  जानते है देश के उन गांवों के बारे में जो माने जाते है विशेष।

Published by suman Published: April 27, 2020 | 10:48 pm
Modified: April 27, 2020 | 10:53 pm

जयपुर: हमारा देश गाँवों का देश है जहां पर इनका अनोखा संगम और तालमेल देश की संस्कृति को उजागर करता है। कहा जाता है कि असली भारत का नजारा गावों में ही मिलता हैं।देश के ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहे हैं जो अपनी अनोखी विशेषता के चलते पूरे विश्व में जाने जाते है और यहां जाना आपके लिए एक अद्भुद अहसास होता हैं। तो  जानते है देश के उन गांवों के बारे में जो माने जाते है विशेष।

*  हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले के अति दुर्गम इलाके में स्थित है मलाणा गांव। इसे भारत का सबसे रहस्यमयी गांव कह सकते है। यहां के निवासी खुद को सिकंदर के सैनिकों का वंशज मानते है। यहां पर भारतीय क़ानून नहीं चलते है यहां की अपनी संसद है जो सारे फैसले करती है।इस गांव में कुछ भी छुआ तो जुर्माना लगता है  मलाणा भारत का इकलौता गांव है, जहां मुग़ल सम्राट अकबर की पूजा की जाती है।

महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के नेवासा तालुके में शनि शिन्ग्नापुर भारत का एक ऐसा गांव है जहां लोगों के घर में एक भी दरवाजा नहीं है यहां तक की लोगों की दुकानों में भी दरवाजे नही हैं, यहां पर कोई भी अपनी बहुमूल्य चीजों को ताले चाबी में बंद करके नहीं रखता फिर भी गांव में आज तक कभी कोई चोरी नही हुई।यह गांव जहां आज भी राम राज्य है ।

 

यह पढ़ें…. पर्यटन पर कोरोना का ग्रहण, वीरान पड़ गई दुनिया, हर तरफ पसरा सन्नाटा…

* अपनी परंपरा के लिए चर्चित  कुछ गांव ऐसे भी हैं जो अपनी परंपराओं के लिए चर्चित हैं। भारत में ऐसे कई गांव हैं जहां उनकी परंपराएं वहां के लोग दशकों से निभा रहे हैं। कुछ गांवों की परंपराएं आपको हंसने पर मजबूर कर देंगी। जैसे उत्तर प्रदेश का एक अनोखा गांव है बामनौली जहां पर इंसान के नाम के पीछे यदि आप कुत्ता, बिल्ली या भेड़िया लगा दें तो कोई बुरा नहीं मानता। यहां के लोग सालों से एक-दूसरे को पशु-पक्षियों के नाम से पुकारते हैं और इस परंपरा पर गर्व भी महसूस करते हैं। वैसे ये गांव उतना ही आधुनिक भी है। यह भारत के उन चुनिंदा गांवों में से है जिसकी अपनी वेबसाइट है।

भारत के मेघालय राज्य में बसा है मासंराम (Mawsynram )गांव जहां दुनिया में सबसे ज़्यादा बारिश होती है। पूरे साल में यहां 467 इंच यानि 38.9 फ़ीट बारिश होती है। यहां के लोगों ने इस मौसम के लिए खुद को बखूबी ढाला है। हर वक़्त यहां के लोग बांस से बने रेनकोर्ट पहने हुए होते हैं और बड़े ही आराम से अपने रोज़मर्रा के काम करते हैं।

 

यह पढ़ें…. रामायण में वनवास के दौरान कहां-कहां रुके थे श्रीराम, जिसका आज भी मिलता है प्रमाण

सिर्फ गुदगुदाने वाले नाम या विकास से दूर रहना ही हमारे ग्रामीण इलाकों की हकीकत नहीं है। ‘कौन बनेगा करोड़पति’ के पहले सीजन में एक सवाल पूछा गया था कि एशिया का सबसे शिक्षित गांव कौन सा है? जवाब था अलीगढ़ का ‘धौर्रा माफी’ गांव। इस गांव को 2008 में सबसे शिक्षित गांव के रूप में लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी जगह मिली थी। इस गांव की गलियां प्रोफेसर, डॉक्टर, इंजीनियर व एनआरआइ से गुलजार है।