Top

होली-दिवाली पर न मिले, इफ्तार पार्टी में एक हुआ कुनबा

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 11 Jun 2018 5:31 PM GMT

होली-दिवाली पर न मिले, इफ्तार पार्टी में एक हुआ कुनबा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: मंदिर मस्जिद बैर कराते, प्रेम कराती मधुशाला। ये पंक्तियां हैं मुलायम सिंह के करीबी अमिताभ बच्‍चन के पिता हरिवंश राय बच्‍चन की किताब मधुशाला की। समाजवादी पार्टी में उपजे विवाद के बाद होली-दिवाली जैसे बड़े त्‍योहारों पर ये परिवार एक साथ नहीं बैठ सका था। लेकिन हरिवंश राय बच्‍चन की इस कविता के उलट, इफ्तार पार्टी ने परिवार को एक कर दिया। ताज होटल में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव, पार्टी अध्‍यक्ष अखिलेश यादव और पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव एक साथ नजर आए।

एका दिखाने की पुरजोर कोशिश

समाजवादी पार्टी की इफ्तार पार्टी भले ही ग्रांड न हुई हो, लेकिन ताज होटल में हुई अखिलेश की इफ्तार पार्टी में परिवार में एका दिखाने की भरसक कोशिश हुई है। चुनिंदा मुस्लिम धर्मगुरूओं, पार्टी विधायकों और सांसदों के अलावा समाजसेवी इफ्तार पार्टी मे शामिल हुए। हाल के दशक में ये पहला मौका था, जब समाजवादी पार्टी की तरफ से आयोजित होने वाला आम रोजेदारों के लिए इफ्तार पार्टी का आयोजन नहीं किया गया। ताज होटल की हाई फाई इफ्तार पार्टी और डिनर में पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव और शिवपाल यादव समेत कई बड़े नेता शामिल हुए।

इसके अलावा पार्टी उपाध्‍यक्ष किरणमय नंदा, अहमद हसन, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्‍य जफरयाब जिलानी, ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्‍ता, ऐशबाग ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली, नदवा कालेज के प्रिंसपल मौलाना सईदुर्रहमान आजमी, टीले वाली मस्जिद के इमाम मौलाना फजलुर्रहमान वाईजी, शिया चांद कमेटी के अध्‍यक्ष मौलाना सैफ अब्‍बास इफ्तार पार्टी में शामिल हुए।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story