Top

इस मुहूर्त में अर्ध्य देने से बढ़ेगी पति की उम्र, करवा चौथ है खास, फिर भी न करें ये काम

suman

sumanBy suman

Published on 22 Oct 2018 11:55 PM GMT

इस मुहूर्त में अर्ध्य देने से बढ़ेगी पति की उम्र, करवा चौथ है खास, फिर भी न करें ये काम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जयपुर:इस साल करवा चौथ का व्रत 27 अक्टूबर 2018 को किया जाएगा। कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को करवाचौथ का व्रत किया जाता है। विवाहित स्त्रियां अपने पति की लम्बी उम्र और स्वास्थ्य के लिए करती है। करवा चौथ का शुभ मुहूर्त, पूजा विधि के बाद अब हम आपको करवा चौथ पर अर्घ्य देना का शुभ मुहूर्त बता रहे हैं...महिलाओं को करवा चौथ व्रत का पूरे साल इंतजार रहता है। वहीं इस साल करवा चौथ अपने आप में खास है क्योंकि इस बार चंद्रमा रोहिणी नक्षत्र का होगा जिससे महिलाओं को अखंड सौभाग्यवती का वरदान मिलेगा।

आओ इसका पता लगाएं, करवा चौथ पर पति के साथ क्यों होती है चंद्रमा की पूजा

इस बार यह व्रत शनिवार के दिन पड़ रहा है। साथ महिलाएं अखंड सौभाग्य की कामना के साथ निर्जल व्रत रखेंगी और चंद्र देव से पति के दीर्घायु की कामना करेंगी। करवा चौथ के दिन महिलाएं खास सोलह श्रृंगार करती हैं। ज्योतिषों के अनुसार सालों बाद इस बार करवाचौथ सुहागिन महिलाओं के खास होने वाला है। इस बार करवाचौथ में चंद्रमा रोहिणी नक्षत्र का होगा। ऐसा होने से व्रती महिलाओं को विशेष फल प्राप्ति का संयोग बन रहा है। यह संयोग महिलाओं के लिए लाभकारी है।

अर्घ्य का समय चंद्रमा शाम 7:35 बजे उदय होगा लेकिन चतुर्थी तिथि 7:58 बजे से ही शुरू हो रही है ऐसे में 7:58 के बाद ही अर्घ्य देना लाभकारी होगा।

मंत्र पूजन के लिए ओम शिवायै नमः से पार्वती जी का, ओम नमः शिवाय से श्री शिव जी का, ओम गं गणपतए नमः से गणेश जी का, ओम हनुमते नमः से कार्तिकेय जी का, ओम सोम सोमाया नमः से चंद्र देव का पूजन-अर्चन करें।चंद्रमा की वृष गत होने के कारण कन्या, मिथुन, मकर, कुंभ, वृष और तुला राशि की महिलाओं को अपने पति से विशेष सुख प्राप्त होगा।

करवा चौथ : मेकअप टिप्स से होगा ऐसा असर, नहीं हटेगी चेहरे से पति की नजर

ना करें ये काम इस बार करवाचौथ ऐसे समय में पड़ रहा है जब शुक्र अस्त रहेगा। शुक्र अस्त की दशा में शुभ काम नहीं किए जाते हैं। इसलिए सुहागिन महिलाएं इस बार करवाचौथ व्रत का उद्यापन नहीं करें। चंद्रमा को अर्घ्य देने के व्रत समापन कर दें। सास को बायना देकर घर आस-पड़ोस की महिलाओं का आशीर्वाद लेकर अन्न गृहण करें।

suman

suman

Next Story