Top

डंपिंग ग्राउंड को लेकर विरोध , 200 अज्ञात 45 ज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 4 Jun 2018 3:55 PM GMT

डंपिंग ग्राउंड को लेकर विरोध , 200 अज्ञात 45 ज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज
X
डंपिंग ग्राउंड को लेकर विरोध , 200 अज्ञात 45 ज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा: सोमवार को सुबह सेक्टर-123 स्थित वेस्ट टू एनर्जी प्लांट में एक बार फिर जेसीबी की आवाज गूंजने लगी। इधर, सेक्टर-122 के बारात घर में ग्रामीणों की बैठक होती रही। दोपहर बाद सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण साइट पर पहुंच गए। काम बंद करवाने की कोशिश की। पुलिस ने मना किया। लेकिन वह जबरन साइट में घुस गए। ग्रामीणों ने काम रोकने के लिए पुलिस पर पथराव किया जवाब में पुलिस ने लाठिया बरसाते हुए करीब 50 ग्रमीणों को हिरासत में लिया। इन सभी को दो बसों में बैठाकर थाना फेज-3 लाया गया। ऐसे में सरकारी काम में बाधा डालने पर करीब 45 ज्ञात व 200 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। 45 लोगों को पुलिस लाइन भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें .....नोएडा: यमुना प्राधिकारण के पूर्व सीईओ सहित 22 व्यक्तियों के खिलाफ जमीन के फर्जीवाड़े का मामला दर्ज

सेक्टर-123 में प्राधिकरण वेस्ट टू एनर्जी प्लांट बनाने जा रही है। इसके लिए वहा भूमिगत चैंबर बनाने का काम किया जा रहा है। रविवार को यहा सैकड़ों लोगों ने प्रदर्शन किया। लिहाजा काम बंद कर दिया गया। लोगों ने गढ़्ढा तक भर दिया। सोमवार सुबह एक बार फिर डंपर व जेसीबी की आवाज मैदान से आने लगी। खुदाई का काम शुरू कर दिया गया। पहले से ज्यादा पुलिस बल तैनात कर दिया गया। दोपहर बाद आसापास सेक्टर 119, 120,121, 122, 123 , नोएडा एक्सटेंशन, पर्थला, गढ़ी, सोहरखा, बहलोलपुर, सफार्बाद, बसई, छिजारसी, चोटपुर, हैबतपुर के लोग वहा एकत्रित हो गए। इससे पहले इनकी बैठक सेक्टर-122 स्थित बारात घर में हुई। यहा से पैदल मार्च करते हुए डंपिंग ग्राउंड की तरफ बढ़े। वहा मौजूद पुलिस ने इनको रोकने का प्रयास किया। कहासुनी के बाद आंदोलनकारी वहीं प्रदर्शन पर बैठ गए।

डंपिंग ग्राउंड को लेकर विरोध , 200 अज्ञात 45 ज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज डंपिंग ग्राउंड को लेकर विरोध , 200 अज्ञात 45 ज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज

जमकर प्रशासन के खिलाफ हुई नारेबाजी

सोमवार को सेक्टर 123 में प्रस्तावित डंपिंग ग्राउंड के विरोध में लोगों ने जमकर शासन प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। सुबह 9 बजे से लोग पर्थला के सामुदायिक केंद्र में इकट्ठे होने शुरू हो गए और 11 बजे के करीब लोगों ने प्रस्तावित डंपिंग ग्राउंड की ओर कूच कर गए। प्रदर्शन में महिलाएं, युवा, ग्रामीण, सेक्टरवासी, सामाजिक संस्थाओं के लोग एवं वि•िान्न राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि शामिल हुए। लोग जब प्रस्तावित डंपिंग ग्राउंड की ओर बढ़ने लगे तो पुलिस ने उन पर बल प्रयोग कर दिया जिसमें के युवा घायल हो गए और कुछ युवाओं के सर में चोट लगने से वो लहूलुहान हो गए। पुलिस के पास दो बस् थी जिसमें वह प्रदर्शन करने वालों को भरकर पुलिसलाइन ले गए । डंपिंग ग्राउंड को हटाने के लिए शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने वाले लोगों पर पुलिस और प्रशासन द्वारा किया गया लाठीचार्ज सरकार की मंशा को दिखा रहा है जो कि बहुत ही निंदनीय है। लाठीचार्ज में गढ़ी चौखंडी गांव के दीपक यादव का सर फट गया और कई लोग घायल हो गए। 47 लोगों को पुलिस लाइन ल् जय गया जिसमें 5 महिलाएं भीं हैं। लोगों का कहना है कि स्थानीय सांसद और विधायक को हमारी मदद करनी चाहिए थी लेकिन वह हमारी मदद नहीं कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें .....प्रदर्शनकारियों पर पुलिस का लाठीचार्ज: BJP नेता भी घायल, हॉस्पिटल में एडमिट

चले पत्थर पड़ी लाठियां

कुछ देर बाद ही प्रदर्शनकारियों ने वेस्ट टू एनर्जी प्लांट का काम बंद कराने के लिए साइट के अंदर घुसने लगे। पुलिस ने उन्हें मना किया। लेकिन वह नहीं माने। पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर प्रदर्शनकारियों को खदड़ने का प्रयास किया। आक्रोशित प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पत्थर चला दिए। जिसक बाद पुलिस ने कार्यवाही करते हुए प्रदर्शनकारियों पर लाठियां भांजी और उन्हें थाने ले गए।

डंपिंग ग्राउंड को लेकर विरोध , 200 अज्ञात 45 ज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज डंपिंग ग्राउंड को लेकर विरोध , 200 अज्ञात 45 ज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज

चेतावनी नहीं बनने दिया जाएगा डंपिंग ग्राउंड

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि जिला प्रशासन, सरकार सभी के द्वारा दिए जा रहे आश्वासन झूठे है। प्राधिकरण तानाशाह बना हुआ है। वह सिर्फ शहर को कचरे के ढेर में तब्दील करना चाहता है। वह तो अधिकारी है चले जाएंगे। लेकिन हमे यहा जीवन भर रहना है। ऐसे में यह फेंके जाने वाले कचरे से संक्रमण व बीमारियों की खतरा रहेगा। यह बीमारी हमारे को बच्चों को लग सकती है। भविष्य के लिए यहा हम डंपिंग ग्राउंड नहीं बनने देंगे।

यह भी पढ़ें .....नोएडा: दिल्ली से सटे खोड़ा इलाके में जहरीली शराब से 4 की मौत

यातायात को किया बंद

झड़प व कहासुनी के दौरान ग्रामीणों को पुलिस ने साइट से खदेड़ दिया। इस दौरान पुलिस को जो जहा मिला वहीं, घेर लिया। उसे बस में बैठा दिया गया। एहतियात के तौर परपर्थला गोलचक्कर पर कुछ देर के लिए यातायात को बंद कर दिया गया। यहा वाहनों को किसी अन्य रूट से निकाला गया। हालांकि बाद में स्थिति सामान्य होने पर वाहनों को जाने दिया गया।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story