Top

वर्दी में सीएम योगी के सामने नतमस्तक हुआ ये पुलिस अधिकारी, अब फंसे

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 28 July 2018 3:12 PM GMT

वर्दी में सीएम योगी के सामने नतमस्तक हुआ ये पुलिस अधिकारी, अब फंसे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर: गुरु पूर्णिमा पर गोरक्षपीठ के महंथ और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के पैर छूकर उनके चरणों में नतमस्तक होने पर एक खाकी वर्दी वाले अधिकारी विवादों में घिर गये है। सोशल मीडिया में तस्वीरें वायरल होने के बाद विवाद इतना ज्यादा बढ़ गया कि आनन- फानन में उन्हें अपनी पोस्ट को डिलीट करना पड़ गया। इस मामले में अधिकारी बयान देने से भी घबराने लगे है।

ये भी पढ़ें...आखिर क्यों लोगों की आंखों का तारा बने योगी के यह मंत्री, जवाब देंगी ये वायरल तस्वीरें

ये है पूरा मामला

गुरु पूर्णिमा के दिन जब सीएम योगी शिष्यों को आशीर्वाद दे रहे थे, तभी अचानक गोरखनाथ सीओ प्रवीण कुमार सिंह भी उनके सामने आशीर्वाद के लिए बैठ गये। प्रवीण सिंह ने सीएम योगी को तिलक लगाया, तो योगी ने भी प्रवीण को तिलक लगाकर आशीर्वाद दिया। बाद में दोनों की तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हो गई। लोगों ने एक पुलिस अधिकारी को सीएम के सामने वर्दी में नतमस्तक होने पर सवाल उठाना शुरू कर दिया। विवाद इतना ज्यादा बढ़ गया कि पुलिस अधिकारी को अपनी पोस्ट को डिलीट करना पड़ा। उन्होंने इस मामले पर अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

गुरु पूर्णिमा पर ये हैं परम्परा

गुरु पूर्णिमा पर गुरु को नमन कर उनके चरण छूकर आशीर्वाद लेने की परंपरा हमारे देश में बहुत पुरानी है। इस दिन शिष्य अपने गुरु के पैर छूकर दोनों हाथों से आशीर्वाद लेते हैं। वहीं गुरु अपने शिष्य को चंदन लगाकर उसे अपना आशीर्वाद देते है। इस परम्परा को हिन्दू धर्म में बेहद ही शुभ माना जाता है।

ये भी पढ़ें...रंगीन मिजाज दरोगा हुए सस्पेंड, सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी तस्वीरें

कौन है प्रवीन सिंह

मूलरूप से जौनपुर जिले के मडि़आहूं के रहने वाले सीओ प्रवीण कुमार सिंह को एक साल पहले गोरखनाथ सर्किल का प्रभार मिला था । प्रवीण कुमार सिंह की शिक्षा-दीक्षा पश्चिम बंगाल में हुई है। उनके पिता सुरेश चंद्र वहां आज भी शिक्षक हैं. वह इसी महीने रिटायर हो जाएंगे. वह 2015 बैच के पीपीएस हैं। फिलहाल प्रवीण द्वारा सीएम योगी को गुरु बनाने की बात चर्चा में है। हालांकि इस मामले में अभी तक गोरखनाथ सर्किल के सीओ प्रवीण कुमार सिंह का कोई बयान नहीं आया है। मामला चर्चा में आने के बाद उन्होंने फेसबुक से पोस्ट को भी डिलीट कर दिया है। लेकिन, वर्दी पहने एक पुलिस अधिकारी के मुख्यमंत्री के पैरों में नतमस्तक होने पर सवाल उठ रहे हैं।

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story