UP चुनाव के नामांकन से पहले लगा सपा को झटका, विधायक कुलदीप ने थामा BJP का दामन

Published by January 16, 2017 | 12:13 pm
मुहम्मदाबाद सीट: कांग्रेस के बदले अब सपा प्रत्याशी मैदान में, ये बदलाव अंसारी बंधु को जिताने के लिए तो नहीं?

लखनऊः उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव के लिए होने वाली नामांकन प्रक्रिया शुरू होने से ठीक एक दिन पहले समाजवादी पार्टी ( सपा) को बड़ा झटका लगा है। उन्नाव से सपा के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने साइकिल की सवारी छोड़ कमल खिलाने का फैसला कर लिया है।

बता दें कि कुलदीप सेंगर अखिलेश कैबिनेट में ग्राम विकास मंत्री अरविंद सिंह गोप के रिश्तेदार हैं। इससे पहले आगरा की बाह सीट से विधायक राजा महेन्द्र अरिदमन सिंह ने भी सपा को अलविदा कह कर भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया था। हालात कुछ ऐसे हैं कि  सपा के क़रीब 2 दर्जन विधायक नए ठिकाने की तलाश में लगे हैं।

बदल रही नेताओं की आस्था
यूपी विधान सभा चुनाव जैसे जैसे नज़दीक आ रहा है। नेताओं की आस्थाएं बदलने का सिलसिला तेज़ हो गया है। भगवंत नगर उन्नाव से सपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने कुलदीप को भाजपा में शामिल कराया है। इस से पहले आगरा में सपा के इकलौते विधायक राजा महेन्द्र अरिदमन सिंह और उनकी पत्नी पक्षालिका सिंह भाजपा में शामिल हो चुके है।

इनको मिला दोनों गुटों से टिकट
ख़ास बात ये है की कुलदीप सेंगर और राजा महेन्द्र अरिदमन सिंह को मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव दोनों ही गुटों से टिकट मिला था। इसके बावजूद इस दोनों ने  सपा छोड़ कर भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया है।

सपा में मचे घमासान से नेता तलाश रहे नया ठिकाना
समाजवादी परिवार में घमासान के बीच दोराहे पर खड़े सपा के क़रीब दो दर्जन विधायक नए ठौर ठिकाने की तलाश में हैं। ये वो विधायक हैं जिन्हें समाजवादी परिवार के दोनों गुटों से टिकट मिला हुआ है। ख़ास बात ये भी हैं की राजधानी से सटे चारों ज़िलों से सपा में भगदड़ जैसे हालात है। रायबरेली, हरदोई, सीतापुर से कुछ विधायकों के साथ ही बड़े नेता सपा को अलविदा कहने की तैयारी कर चुके है और ठिकाने से हरी झंडी मिलते ही पार्टी छोड़ देंगे।