अखिलेश सरकार पर आरोपों का जवाब नहीं दे सके प्रदेश अध्यक्ष, कभी भड़के, कभी जोड़े हाथ

समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम स जब अखिलेश सरकार में ज़मीनों पर कब्जे को लेकर सवाल पूछे गये, तो वह भड़क गये। राजा भइया से प्रेम और अंसारी बंधुओं से परहेज़ जैसे तीखे सवालों पर नरेश उत्तम अपनी नाराजगी नहीं छिपा सके।

Published by zafar Published: February 2, 2017 | 4:13 pm
Modified: February 2, 2017 | 4:43 pm
अखिलेश सरकार पर आरोपों का जवाब नहीं दे सके प्रदेश अध्यक्ष, कभी भड़के, कभी जोड़े हाथ

मुराजाबाद: समाजवादी पार्टी के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने पार्टी के कामकाज पर सवालों के जवाब में हाथ जोड़ लिये। नरेश उत्तम प्रत्याशियों के चुनाव प्रचार के लिये मुरादाबाद आये थे। लेकिन चुभते सवालों पर भड़कने के बाद अखिर उन्होंने चुप्पी साध ली।

असहज दिखे सपा प्रदेश अध्यक्ष
-समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम से जब अखिलेश सरकार में ज़मीनों पर कब्जे को लेकर सवाल पूछे गये, तो वह भड़क गये।
-राजा भइया से प्रेम और अंसारी बंधुओं से परहेज़ जैसे तीखे सवालों पर नरेश उत्तम अपनी नाराजगी नहीं छिपा सके।
-समाजवादी पार्टी के नवनियुक्त प्रदेश अध्क्षक्ष ने पिछले घोषणापत्र में किये गये वादों को पूरा न करने का सवाल भी टाल दिया।
-पिछले चुनावी घोषणापत्र में अल्पसंख्यको को 18 % प्रतिशत आरक्षण देने के वादे पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष टालमटोल करते नजर आये।

-पार्टी के वरिष्ठ नेता शिवपाल यादव को सपा के स्टार प्रचारकों में शामिल न करने के सवाल पर भी प्रदेश अध्यक्ष असहज दिखायी दिये।
-आखिर में, मुलायम सिंह यादव को सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद की कुर्सी से हटाये जाने के सवाल पर नरेश उत्तम ने हाथ जोड़ लिए।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App