उत्तर प्रदेश

कानपुर: बीजेपी ने विधानसभा उपचुनाव के तैयारियां शुरू कर दी है। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 से हटाने के बाद बीजेपी गोविंद नगर विधानसभा क्षेत्र में तिरंगा यात्रा निकाल कर उपचुनाव की शुरूआत करेगी। गोविंद नगर विधानसभा उपचुनाव प्रभारी नंदगोपान गुप्त नंदी ने पार्टी पदाधिकरियों के साथ बैठककर रणनीति बनाई है। यह भी पढ़ें: दिल्ली रेड अलर्ट …

यूपी में होने वाले मंत्रिमंडल के विस्तार होने पहले स्वतंत्र देव सिंह बीजेपी के यूपी अध्यक्ष ने राज्य मंत्रिमण्डल से इस्तीफा दे दिया है। स्वतंत्र देव सिंह ने ये इस्तीफा एक व्यक्ति-एक पद के सिद्धान्त पर दिया है।

इस मौके पर अखिलेश यादव ने कहा कि फोटो कैमरे से नहीं बल्कि दिमाग से खींची जाती हैं, क्योंकि ये जरूरी नहीं कि जिसके पास महंगा कैमरा हो वो अच्छी तस्वीर भी खींच सकता हो।

चाहकर भी लोग बिजली का उपभोग नहीं कर पायेगें इसलिये अभी भी समय है यूपी सरकार को इस पूरे मामले पर हस्तक्षेप करते हुये बिजली दरों में बढ़ोत्तरी को वापस लेना चाहिये। अन्यथा की स्थिति में पूरें प्रदेश की जनता में एक गलत संदेश जायेगा।

मुगल वंश का वंशज होने के नाते वे अदालत के सामने अपनी बात कहना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वे सिर्फ अदालत के सामने अपने विचार रखना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वे मांग करते हैं कि सिर्फ एक बार ही सही कोर्ट उनकी बात सुन ले।

अस्पतालों में न दवा है, न इलाज की व्यवस्था है। भाजपा सरकार ने पूरी चिकित्सा व्यवस्था को ही बीमार कर दिया है। सरकार संवेदनहीन है।

ट्रेन टूंडला स्टेशन पहुंचती उससे पूर्व ही बदमाश चलती ट्रेन से उतरकर भाग गए। ट्रेन रात्रि 10.30 बजे टूंडला स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर पांच पर आकर रुकी।

बैठक की अध्यक्षता हाईकोर्ट बार के अध्यक्ष राकेश पाण्डे एवं संचालन महासचिव अशोक कुमार सिंह ने किया। बैठक में सभी ने एकमत होकर आपत्ति जताई कि विगत कुछ वर्षों से प्रयागराज से सरकारी कार्यालयों, संस्थाओं, संगठनों, औद्योगिक इकाईयों आदि को सुनियोजित तरीके से प्रयागराज से बाहर स्थानान्तरित किया जा रहा है।

पुलिस प्रवक्ता ने रविवार को बताया कि ईद के दिन खोड़ा कालोनी से एक सात वर्षीय बच्ची लापता हो गई थी जिसकी रिपोर्ट उसके परिजनों ने खोड़ा थाने में दर्ज कराई थी। 17 अगस्त को इंदिरापुरम थाना क्षेत्र के एक नाले में एक बच्ची की लाश बरामद हुई जिसकी शिनाख्त खोड़ा से लापता हुई सात वर्षीय बच्ची के रूप में हुई।

हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के साथ उत्तर प्रदेश के उपचुनाव को कराने की कोई सरकारी अधिसूचना तो जारी नहीं हुई है लेकिन निर्वाचन आयोग के सूत्रों के मुताबिक उत्तर प्रदेश की 13 सीटों पर उपचुनाव रिक्त होने के छह महीने के अंदर होना चाहिए।