ओम माथुर ने कहा- UP में है जंगल राज, कानून व्यवस्था का बुरा है हाल

Published by Published: May 15, 2016 | 10:25 pm
Modified: May 15, 2016 | 10:37 pm

आगरा : एक शोक सभा में रविवार को आगरा पहुंचे बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम माथुर ने जहां एक तरफ सपा सरकार पर जमकर निशाना साधा वहीं रालोद के साथ किसी भी तरह के गठबंधन करने से इंकार कर दिया है।

इसके साथ ही रविवार को बीजेपी की राष्ट्रीय प्रवक्ता और एमपी मीनाक्षी लेखी आगरा मे स्वदेशी जागरण मंच के कार्यक्रम मे शिरकत करने पहुंची। इस कार्यक्रम मे उन्होंने अगस्ता वेस्टलेंड मामले मे तथ्य और हकीकत के बारे में लोगो को अवगत कराया साथ ही पत्रकारों पर हो रहे हमलो को दुर्भाग्यपूर्ण बताया।

अखिलेश सरकार की घोषणाएं जनता को भ्रमित करने वाली
अखिलेश सरकार द्वारा अल्पसंख्यको को 15 प्रतिशत आरक्षण देने संबंधी केंद्र सरकार को भेजे गए प्रस्ताव पर राष्ट्रीयउपाध्यक्ष ओम माथुर ने बताया कि जनता को भ्रमित करने के लिए प्रदेश सरकार लुभावनी योजनाओं की घोषणा कर रही है। प्रदेश सरकार को आभास हो गया है कि उसके दिन पूरे हो गए हैं इसलिए वह ऐसी घोषणाएं कर रही है।

प्रदेश में है जंगल राज
सपा सरकार पर निशाना साधते हुए ओम माथुर ने कहा कि यूपी में हर समाज हर तबका परेशान है। महिलाएं, व्यापारी, पत्रकार कोई सुरक्षित नहीं है। पूरे भारत में सबसे ज्यादा खराब कानून व्यवस्था यूपी में है। ऐसा लगता है जैसे यहां जंगल राज है।

राष्ट्रीय लोकदल से नहीं होगा गठबंधन
राष्ट्रीय लोकदल पार्टी से चल रही बीजेपी के गठबंधन की चर्चाओं को विराम देते हुए ओम माथुर ने कहा कि राष्ट्रीय लोकदल से किसी तरह का कोई गठबंधन नहीं होगा। बीजेपी  सिर्फ एनडीए के घटक दलों के साथ ही आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेगी।

यह भी पढ़ें … ओम माथुर ने कहा-मंदिर निर्माण आस्था का सवाल, RLD से चुनावी गठजोड़ नहीं


नीतीश संभाले अपना घर

बिहार के सीएम नीतीश कुमार की यूपी में बढ़ती राजननैतिक गतिविधियों और चुनाव लड़ने की घोषणा पर कटाक्ष करते हुए ओम माथुर ने कहा कि नीतीश पहले अपना घर यानी बिहार संभाले बाद में यूपी की चिंता करें।

मीनाक्षी लेखी ने जनता को अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले से कराया अवगत
बीजेपी एमपी मिनाक्षी लेखी ने स्वदेशी जागरण मंच के कार्यक्रम मे लोगों को बताया कि अगस्ता मामले में किस तरह से नियमों मे बदलाव कर नियमों को ताक पर रखकर इटेलियन कंपनी को लाभ पहुंचाया गया।

इसके साथ ही सेना के प्रयोग मे आने वाले हैलीकॉप्टर से 10 गुना ज्यादा कीमत पर हैलीकॉप्टर खरीद कर देश के धन का दुरूपयोग किया गया। फिर जब मामला इटली मे खुला और इसमें घूसखोरी से लेकर अनियमितताओं पर खुलासे हुए तो यूपीए सरकार ने कैसे आंखे मूंदकर अपनों को बचाने का काम किया।

बीजेपी एमपी मिनाक्षी लेखी
बीजेपी एमपी मिनाक्षी लेखी

बीजेपी सरकार कर रही मामले पर तेजी से जांच
मीनाक्षी लेखी नेे एकबार फिर दोहराया कि बीजेपी अगस्ता मामले पर तेजी से जांच पूरी कर रही है और दोषियों के खिलाफ साक्ष्य जुटाने का काम किया जा रहा है। 10 साल के कार्यकाल के दौरान यूपीए सरकार ने मामले से जुड़े सारे साक्ष्यों को मिटाने का काम किया तो वहीं सीबीआई को भी जांच तक नहीं शुरू करने दी।

दूसरी तरफ इटली मे चले मामले मे भी लाखों कागजातों को छोड़कर महज दो कागज उपलब्ध कराए और घूसखोरी मे लिप्त लोगों को बचा लिया गया। लेकिन अब एनड़ीए लगातार कोशिश कर रही है कि बिना आरोपों से घिरे कैसे भी आऱोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। मामले मे आरोपी ऊंची पहुंच वाले हैं  इसलिए फूंक-फूंंक कर कदम रखना पड रहा है लेकिन कार्रवाई जल्द ही सामने होगी।

सविंधान में मुस्लिम आरक्षण की नहीं है जगह
इसके साथ ही मस्लिमों के आरक्षण मामले पर उन्होंने कहा कि यह राजनीतिक वर्ष है लिहाजा यूपी सरकार ने ये शिगूफा छोड़ा है लेकिन कानून मे अल्पसंख्यकों को आरक्षण का कोई नियम है ही नहीं। वहीं उन्होने इस पर चर्चा करने को गैर जरूरी करार दिया।

पत्रकारों पर हो रहे हमले दुर्भाग्यपूर्ण
पत्रकारों पर हो रहे हमले को मिनाक्षी लेखी ने दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उनका कहना था कि एक तरफ कुछ पत्रकार घूसखोरी के आरोपों में  घिरे हैं जो कि खबर की कीमत लगाते हैं जबकि वहीं तमाम ऐसे भी हैं जो अपनी जान पर खेलकर देश सेवा के लिए अपनी जान दे देते हैं।

ऐसे पत्रकारों की सुरक्षा के लिए कानून बनाने की जरूरत है नहीं तो कल किसी दूसरे पत्रकार को निशाना बनाया जा सकता है। लिहाजा वे खुद पत्रकार सुरक्षा बिल की मांग करती हैं और सुरक्षा प्रदान करने के लिए कोशिश भी कर रही हैं।