BSP कार्यकर्ता ने भागवत पर की अभद्र टिप्पणी, मौर्य बोले- FIR दर्ज कराओ

Published by aman Published: August 22, 2016 | 3:15 pm
Modified: August 22, 2016 | 3:24 pm

आगरा: बसपा प्रमुख मायावती ने आगरा रैली में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर लोगों को फर्जी बौद्ध बनाने का आरोप लगाया था। इसके बाद एक बसपा नेता ने संघ प्रमुख मोहन भागवत पर अभद्र टिप्पणी की है। जिससे अब ये मामला गरमाता दिख रहा है। बीजेपी ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई है। जिसके बाद सियासत तेज हो गई है।

बीजेपी के एक कार्यकर्ता ने अपने फेसबुक अकाउंट पर संघ प्रमुख की फोटो पोस्ट की थी। इस पर बसपा के नेता ने मोहन भागवत को लेकर आपत्तिजनक कमेंट किया। संज्ञान में आते ही बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने पार्टी की स्थानीय इकाई को एफआइआर करने के निर्देश दिए।

ये भी पढ़ें …मोहन भागवत के बयान पर योगी ने जताई सहमति, कहा- सबके लिए हो एक पॉलिसी

क्या है मामला ?
-बीजेपी कार्यकर्ता राकेश कनौजिया ने 19 अगस्त को सर संघचालक मोहन भागवत के आगरा आगमन पर स्वागत की फ़ोटो फेसबुक पर पोस्ट की थी।
-इसमें भागवत के हाथ जोड़े अभिवादन करता फोटो लगाया गया।
-राकेश कनौजिया छावनी सीट से दावेदारी भी पेश कर रहे हैं।

क्या थी टिप्पणी ?
-रविवार देर शाम सोनू बौद्ध नाम के व्यक्ति ने इस पर आपत्तिजनक टिप्पणी की।
-सोनू फेसबुक पर स्वयं को युवा बसपा नेता बताता है।
-सोनू ने लिखा, ‘राकेश कनौजिया जी आप कोख में मर जाते तो दिवाकर और दलित समाज को फख्र होता।’
-उसने इस पोस्ट में मोहन भागवत के लिए अभद्र शब्दों का इस्तेमाल किया है।

ये भी पढ़ें …मायावती का हमला, कहा-यूपी चुनाव जीतने के लिए पाक से युद्ध कर सकती है मोदी सरकार

सोनू बौद्ध
सोनू बौद्ध

सबक सिखाने की दी धमकी
-सोनू की इस टिप्पणी के बाद भाजपाई आक्रोशित हो गए।
-बीजेपी कार्यकर्ताओं ने सोनू की पोस्ट पर एतराज जताया।
-उन्होंने सोनू को संयमित भाषा का प्रयोग करने और सबक सिखाने की बात कही।
-इस पर सोनू ने भी चेतावनी देते हुए जगदीशपुरा आने की धमकी दी।

केशव मौर्य ने दिए केस दर्ज कराने के आदेश
-बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष केशव मौर्य ने इस पोस्ट के बाद जिला बीजेपी को एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए।
-बीजेपी कार्यकर्ताओं ने लिखा जब दयाशंकर सिंह पर केस दर्ज हो सकती है, तो इस पर क्यों नहीं?
-प्रदेश अध्यक्ष के निर्देश के बाद बीजेपी हरकत में आई।

पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री रामशंकर कठेरिया ने बताया कि किसी को भी अभद्र भाषा का प्रयोग करने का अधिकार नहीं है। पुलिस दोषी युवक के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करे। वहीं जिलाध्यक्ष श्याम भदौरिया ने एफआईआर दर्ज कराने की बात कही है।

और ख़बरें