मासूम से दुष्कर्म पर पंचायत का फैसला, आरोपी के परिवार का बहिष्कार

पंचायत ने आरोपी किशोर के परिवार का हुक्का-पानी बंद करने के साथ ही इससे किसी भी तरह के व्यवहार पर पाबंदी लगा दी है। पंचायत ने फैसले को तोड़ने या आारोपी परिवार की मदद करने वाले के खिलाफ भी कार्यवाही का फैसला सुरक्षित रखा है। पंचायत ने कहा कि ऐसे अपराधों पर रोक के लिए सामाजिक बहिष्कार जरूरी है।

child rape-panchayat decision-social boycott

आगरा: पंचायत ने एक मासूम बच्ची से रेप के आरोपी के सामाजिक बहिष्कार का ऐलान किया है। 21 पंचों की इस पंचायत ने पुलिस से भी आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। पंचायत ने लोगों को इस परिवार की मदद न करने की भी चेतावनी दी है।

child rape-panchayat decision-social boycott

पंचायत का कड़ा फैसला
-पंचायत ने आरोपी किशोर के परिवार का हुक्का-पानी बंद करने के साथ ही इससे किसी भी तरह के व्यवहार पर पाबंदी लगा दी है।
-पंचायत ने फैसले को तोड़ने या आारोपी परिवार की मदद करने वाले के खिलाफ भी कार्यवाही का फैसला सुरक्षित रखा है।
-पंचायत ने कहा कि ऐसे अपराधों पर रोक के लिए सामाजिक बहिष्कार जरूरी है।
-दुष्कर्म के विरोध और पंचायत में मौजूद रहने के लिए इस दौरान कागारौल का बाजार बंद रखा गया।

child rape-panchayat decision-social boycott

मासूम से दुष्कर्म
-आगरा के कागारौल थाना क्षेत्र में पिछली 20 अगस्त को एक किशोर ने पड़ोस की 11 माह की बच्ची से दुष्कर्म किया था।
-किशोर बच्ची को खेलाने के बहाने घर ले गया था। बच्ची की चीख पर जब परिवार के लोग मौके पर पहुंचे तो वहां बच्ची खून से लथपथ पड़ी मिली।

-पुलिस ने सूचना मिलने पर किशोर को गिरफ्तार कर लिया था।
-इसी मामले को लेकर रविवार को सर्व समाज की 21 पंचों वाली पंचायत बुलाई गई थी।

और ख़बरें