×

UP: स्‍कूटी में लगा ये बटन दबाते ही पहुंचेगी पुलिस, लांच होगी स्‍पेशल डिवाइस

अगर आप दुपहिया वाहन से कहीं जा रहे हैं और कोई शोहदा या बदमाश आपका पीछा कर रहा है तो घबराने की जरूरत नहीं है। आपकी बाइक या स्‍कूटी में लगा एक बटन दबाते ही पुलिस आपकी मददगार बनकर आपकी मूविंग लोकेशन पर पहुंचेगी। इसके लिए आपको चलती गाड़ी में फोन निकालकर डायल 100 या 1090 पर शिकायत करने की जरूरत नहीं होगी, बल्कि गाड़ी चलाते चलाते ही आप पुलिस से संपर्क कर सकेंगे। इतना ही नहीं जीपीएस के माध्‍यम से चलती गाड़ी की लोकेशन जानकर पुलिस आपकी मदद को तुरंत पहुंचेगी। बस आपको अपने हैंडिल में लगा एक बटन दबाना होगा।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 27 Jan 2018 8:16 AM GMT

UP: स्‍कूटी में लगा ये बटन दबाते ही पहुंचेगी पुलिस, लांच होगी स्‍पेशल डिवाइस
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: अगर आप दुपहिया वाहन से कहीं जा रहे हैं और कोई शोहदा या बदमाश आपका पीछा कर रहा है तो घबराने की जरूरत नहीं है। आपकी बाइक या स्‍कूटी में लगा एक बटन दबाते ही पुलिस आपकी मददगार बनकर आपकी मूविंग लोकेशन पर पहुंचेगी।

इसके लिए आपको चलती गाड़ी में फोन निकालकर डायल 100 या 1090 पर शिकायत करने की जरूरत नहीं होगी, बल्कि गाड़ी चलाते चलाते ही आप पुलिस से संपर्क कर सकेंगे। इतना ही नहीं जीपीएस के माध्‍यम से चलती गाड़ी की लोकेशन जानकर पुलिस आपकी मदद को तुरंत पहुंचेगी। बस आपको अपने हैंडिल में लगा एक बटन दबाना होगा।

स्‍पीकर पर नोट करा सकेंगे प्राब्‍लम

सुल्‍तानपुर के रहने वाले राधेश्‍याम पांडे ने बताया कि उन्‍होंने देश में महिलाओं के साथ हो रही छेड़छाड़ और रोड रेज के मामलों को देखते हुए इस डिवाइस को डिजाइन किया है। ये एक छोटी सी डिवाइस होती है, जिसे आप आसानी से अपनी बाइक और स्‍कूटी पर लगा सकते हैं। इसके बाद जब आप गाड़ी चला रहे हों तो आपको सिर्फ खतरे का अंदेशा होने पर इसमें लगे दो बटनों में से एक बटन को दबाना होगा। लेफ्ट बटन दबाते ही यूपी 100 से आप कनेक्‍ट हो जाएंगे, जबकि 1090 के लिए राइट बटन दबाना होगा।

खास बात ये है कि इसके लिए आपको गाड़ी रोकने की जरूरत नहीं होगी। आप अपनी आवश्‍यकता के हिसाब से बटन दबा सकते हैं।बट न दबाते ही आप अपनी समस्‍या इस डिवाइस में लगे स्‍पीकर के माध्‍यम से नोट करा सकेंगे और उनकी बात भी सुन सकेंगे। इसके साथ ही साथ बटन दबाने पर आपकी लोकेशन जीपीएस के माध्‍यम से संबंधित सुरक्षा एजेंसी तक पहुंच जाएगी और आपके पास पुलिस मददगार बनकर आ जाएगी।

1090 के अधिकारी को पसंद आया इनोवेशन

राधेश्‍याम पांडे ने बताया कि उनके इनोवेशन को 1090 के वरिष्‍ठ अधिकारी नवनीत सिकेरा को बहुत पसंद आया था। उन्‍होंने इसका डेमो देखा है और इस इननवेशन को सपोर्ट करने की बात कही है। इसके अलावा महिला सुरक्षक पैनिक बटन के नाम से इस डिवाइस को पेटेंट करवाने के लिए भी भेजा गया है। इसके अलावा इस डिवाइस को लेकर डिप्‍टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा ने भी अपनी रुचि दिखाई है।

पैडमैन से प्रेरित हैं राधेश्‍याम

राधेश्‍याम पांडे ने बताया कि उनका इनोवेशन कही न कही पैडमैन मूवी की कहानी को दोहराता दिखता है। जैसे इस मूवी में स्‍थानीय स्‍तर की समस्‍या को हल करने के लिए एक इनोवेशन होता है। ठीक उसी तरह से उनका इनोवेशन भी वर्तमान में सामने आ रही समस्‍याओं को देखकर हुआ है। उन्‍होंने कई अन्‍य उत्‍पाद भी बनाए हैं और कई इनोवेशन पाइपलाइन में हैं। खास बात ये है कि राधेश्‍याम की शिक्षा दीक्षा बहुत अधिक नहीं है, उन्‍होंने सुल्‍तानपुर के एक कालेज से महज 51 प्रतिशत अंकों के साथ हाईस्‍कूल और 57 प्रतिशत अंकों के साथ इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की है। लेकिन विज्ञान में उनकी रुचि और समाज के लिए कुछ कर गुजरने का जज्‍बा उन्‍हें इस दिशा में प्रेरित करता रहता है।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story