×

कांग्रेस पार्टी में सीएम के लिए मचा घमासान, दिल्ली पहुंचे कुर्सी के दावेदार

कांग्रेस पार्टी में मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा को लेकर घमासान मचा हुआ है। वहीं राजस्थान में सीएम पद की दौड़ में चल रहे अशोक गहलौत और सचिन पायलट गुरूवार को दिल्ली पहुंच चुके हैं। वे आज राहुल गांधी से मुलाकात कर सकते है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 13 Dec 2018 7:17 AM GMT

कांग्रेस पार्टी में सीएम के लिए मचा घमासान, दिल्ली पहुंचे कुर्सी के दावेदार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: राजस्थान और मध्यप्रदेश में शानदार जीत से कांग्रेस पार्टी लवरेज नजर आ रही है। इसके साथ ही पार्टी में मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा को लेकर घमासान मचा हुआ है। वहीं राजस्थान में सीएम पद की दौड़ में चल रहे अशोक गहलौत और सचिन पायलट गुरूवार को दिल्ली के लिए रवाना हो चुके हैं।

बताया जा रहा है कि मध्य प्रदेश, छतीसगढ़ और राजस्थान तीनों राज्यों में सीएम पद के सभी दावेदार भी दिल्ली पहुंच चुके है। वे आज राहुल गांधी से मुलाकात कर सकते है। माना जा रहा है कि उसके बाद राहुल गांधी मुख्यमंत्रियों के नाम का एलान कर सकते हैं।



मालूम हो कि बुधवार को हुई विधायक दल की बैठक में सीएम के नाम पर चर्चा हुई। अंत में फैसला पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी पर छोड़ दिया गया। जिसके बाद आज राहुल राजस्थान और मध्यप्रदेश के पर्यवेक्षकों के साथ बैठक करेंगे।

छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए जबर्दस्त घमासान के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से इन तीनों राज्यों में हर राज्य के मुख्यमंत्री पद के लिए अपनी शीर्ष पसंद बताने को कहा है।

ये भी पढ़ें...राहुल ने अमेठी में ऐसे खेला हिन्दुत्व कार्ड, जानें BJP ने क्या कहा…



पार्टी सूत्रों के मुताबिक पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए एक अंदरूनी संदेश मंच (एप) का उपयोग करते हुए गांधी ने उन्हें ऑडियो संदेश भेजा है और उन्होंने उनसे अपने-अपने राज्यों में मुख्यमंत्रियों के चयन के लिए फीडबैक मांगा है। बार-बार इस संबंध में जानने का प्रयास किये जाने के बावजूद पार्टी प्रवक्ताओं ने इस संदेश और उसके मजमून पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।



यह संदेश कब भेजा गया है, उसका सटीक समय भी नहीं पता चल पाया है। हालांकि सूत्रों का कहना है कि जिन राज्यों में चुनाव हुए, वहां अनेक पार्टी कार्यकर्ताओं को यह संदेश भेजा गया है। इन तीनों राज्यों में से प्रत्येक में मुख्मयंत्री पद के लिए एक से अधिक नाम सामने आने के कारण गांधी ने अपने संदेश में कहा है कि पार्टी कार्यकर्ताओं की पसंद सीधे उन तक पहुंचनी चाहिए और इसके बारे में किसी भी अन्य को पता नहीं चलना चाहिए।

ये भी पढ़ें...गजब राहुल ! एक साल में पप्पू से बन गये अप्पू, कदमों तले रौंद डाला कमल



इस संबंध में पार्टी के एक वरिष्ठ विधायक ने भी शक्ति एप से ऐसा संदेश मिलने की पुष्टि की। यह एप कांग्रेस प्रमुख पार्टी कार्यकर्ताओं से संवाद करने के लिए इस्तेमाल करते हैं।

ये भी पढ़ें...2019 में भी बीजेपी को हराएंगे, लेकिन हम किसी को देश से मिटाना नहीं चाहते: राहुल

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story