सिद्धार्थ नाथ हो सकते हैं यूपी में बीजेपी के CM FACE, इलाहाबाद से प्रत्याशी हैं पूर्व पीएम शास्त्री के पौत्र

बीजेपी ने देश के पूर्व धानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के पौत्र सिद्धार्थ नाथ सिंह को उतारा है। दिल्ली में बीजेपी के प्रवक्ता पद पर अभी तक बैठे सिंह पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की पसंद माने जाते हैं।

Published by zafar Published: February 13, 2017 | 2:54 pm
Modified: February 13, 2017 | 3:01 pm
BJP आई तो सिद्धार्थ नाथ हो सकते हैं यूपी के CM, इलाहाबाद से प्रत्याशी हैं पूर्व पीएम शास्त्री के पौत्र
संजय भटनागर
    संजय भटनागर

इलाहाबाद: राजनीतिक हलकों में इस बात की जोरदार चर्चा है कि यदि विधानसभा चुनाव के बाद बीजेपी सत्ता में आई तो इलाहाबाद पश्चिम से ही यूपी का सीएम होगा। इलाहाबाद पश्चिम से बीजेपी ने देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के पौत्र सिद्धार्थ नाथ सिंह को उतारा है। दिल्ली में बीजेपी के प्रवक्ता पद पर अभी तक बैठे सिंह पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की पसंद माने जाते हैं।

 

चर्चा जोरों पर
इलाहाबाद में बीजेपी के एक कार्यकर्ता अनिकेत मिश्रा का कहना है कि इस मामले में आधिकारिक रूप से तो कुछ नहीं कहा जा सकता और न ऐसी कोई सूचना है लेकिन चर्चा जोरों पर है कि यदि पार्टी सत्ता में आती है तो सिंह ही सीएम होंगे। हम उनके लिए प्रचार कर रहे हैं और मतदाताओं को भी यही बता रहे हैं। यदि वो यूपी के सीएम होते हैं तो इससे न सिर्फ इलाहाबाद पश्चिम बल्कि पूरे इलाहाबाद का भाग्य संवर जाएगा।
इलाहाबाद राजनीतिक रूप से ही नहीं बल्कि उच्च शिक्षा के क्षेत्र में भी पूरे देश में अव्वल रहा है। इस शहर ने देश को सात प्रधानमंत्री दिए। या तो उन्होंने यहां जन्म लिया या यहां से जुड़े रहे। देश के पहले पीएम पंडित जवाहर लाल नेहरू इलाहाबाद के दूसरे संसदीस क्षेत्र फूलपूर से जीत कर लगातार तीन बार पीएम बने। इसके अलावा लाल बहादुर शास्त्री, गुलजारी लाल नंदा, इंदिरा गांधी, विश्वनाथ प्रताप सिंह और चन्द्रशेखर भी इसी शहर से जुडे रहे हैं।

क्या कहते हैं सिद्धार्थ
न्यूज ट्रैक ने इस मामले में सिद्धार्थ नाथ सिंह से बात की। उन्होंने कहा कि ये चर्चा क्यों और कैसे शुरू हुई वो नहीं बता सकते और न इस बारे में उन्हें कोई जानकारी है। उन्हें बस पार्टी नेतृत्व से ये आदेश हुआ कि जाओ और चुनाव लड़ो और मैं यहां आ गया।
वो लोगों से विकास की ही बात कर रहे हैं। मेरा चुनाव का प्रचार सीधा सादा है। मैं गुंडागर्दी के खिलाफ और विकास के लिए वोट मांग रहा हूं। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार में गुंडागर्दी बढ़ी है। जातिवाद और सम्प्रदायवाद को बढावा मिला है।
बसपा की ओर से पूजा पाल और सपा-कांग्रेस गठबंधन की ऋचा शर्मा के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में वो कहते हैं कि सामने कौन है, इसकी न तो वो परवाह करते हैं और न सोचते हैं। मैं सिर्फ पीएम मोदी के एजेंडे विकास पर काम कर रहा हूं।
इलाहाबाद में चौथे चरण में 23 फरवरी को चुनाव होना है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App