×

एंटी रोमियो स्क्वॉड फेल, छेड़छाड़ और पुलिस की लापरवाही से छात्रा ने खाया जहर

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 27 Dec 2017 6:08 AM GMT

एंटी रोमियो स्क्वॉड फेल, छेड़छाड़ और पुलिस की लापरवाही से छात्रा ने खाया जहर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

शाहजहांपुर। प्रदेश मे योगी सरकार बनते ही सबसे पहले एंटी रोमियो स्क्वॉड का गठन किया गया था ताकि छात्राएं सुरक्षित रहे सके लेकिन इसी रोमियो स्क्वॉड पर तब बड़ा सवाल खड़ा हो गया जब एक दसवीं की छात्रा ने शोहदों की छेड़छाड़ से तंग आकर जहर खाकर जान दे दी। जबकि सात दिन पहले ही पीड़िता के परिजनों ने थाने मे शिकायत दर्ज कराई थी लेकिन पुलिस ने कार्रवाई करना तो दूर आरोपियों को थाने बुलाकर पूछताछ तक करने की जहमत नहीं उठाई।

चार महीने पहले छेड़छाड़ से तंग आकर परिजनों ने अपनी बेटी को पीलीभीत मे रहने वाली बहन के घर भेज दिया था लेकिन आरोपी ने वहां तक पीछा नहीं छोड़ा। पुलिस की बड़ी लापरवाही के चलते तब दसवीं क्लास की छात्रा ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। वहीं, पुलिस अब कार्रवाई करने की बात कर रही है।

बता दें, घटना खुटार थाना क्षेत्र के एक गांव की है। यहां की एक दसवीं छात्रा ने शोहदों की छेड़छाड़ से तंग आकर जहर खाकर मौत को गले लगा लिया। गांव के ही रहने वाले दबंग नितेश व उसके साथी पिछले कई दिन से दसवीं क्लास की छात्रा के साथ छेड़छाड़ करते थे।

मृतका की मां के मुताबिक पिछले लंबे वक्त से गांव का ही रहने वाला नितेश उनकी बेटी के साथ छेड़छाड़ करता था। जब उसकी बेटी स्कूल जाती तो उसको रास्ते में छेड़ता था। यही नहीं, कभी उसकी बेटी को घर आकर भी शोहदे छेड़ते थे।

यही कारण था कि चार महीने पहले उसकी बेटी को दबंगों ने इतना ज्यादा परेशान कर दिया कि आखिरकार बेटी को पीलीभीत में रहने वाली बहन के घर भेजना पड़ गया था लेकिन दबंगों ने उसका पीछा वहां तक नहीं छोड़ा। महीनाभर बाद नितेश व उसके साथी पीलीभीत उसकी बेटी के घर पहुंच गए और उसकी छोटी बेटी को वहां जाकर पकड़ लिया।

वहां उसके दामाद व पड़ोसियों ने पकड़कर नितेश और राहुल नाम के दबंगों को सेहरामऊ उतरी थाने में पुलिस को दे दिया, जहां उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दोनों को जेल दिया था। उसके बाद उसकी बेटी अपने घर आकर रहने लगी।

मृतका के भाई के मुताबिक एक महीने पहले ही आरोपी नितेश फिर जेल से छूट गया और अपने घर आ गया। घर आने के बाद उसने फिर से बेटी के साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी। छेड़छाड़ होने पर थाना खुटार के एसओ बिरजाराम को लिखित शिकायत की थी लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की जिससे आरोपियों के हौसले बुलंद हो गए।

उसके बाद करीब सात दिन पहले फिर नितेश घर आ गया और बेटी के साथ छेड़छाड़ करने लगा। उस वक्त भी खुटार थाने में तहरीर दी गई लेकिन पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने के बजाए पुलिस ने आरोपियों को थाने बुलाकर पूछताछ करने की भी जहमत नही उठाई। कार्रवाई न होता देख छात्रा बेहद परेशान हो चुकी थी।

इतना ही दबंग बेटी को बदनाम करने की धमकी देते रहते थे, जिससे परेशान होकर छात्रा ने घर में जहर खा लिया। हालत गंभीर होने पर बेटी को पीलीभीत के अस्पताल मे भर्ती कराया गया जहां उसने 25 दिसंबर को दम तोड़ दिया। पुलिस की तरफ से कोई कार्रवाई न होता देख मृतक छात्रा के परिजनों ने घर आकर चुपचाप बेटी का अंतिम संस्कार कर दिया।

हालांकि, आज मृतका के परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ खुटार थाने मे तहरीर देखकर मुकदमा दर्ज करने की मांग की तो एसपी ग्रामीण सुभाष चंद्र शाक्य के आदेश पर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं, एसपी ने बताया कि छात्रा ने जहर खाकर सुसाइड कर लिया था। गांव के रहने वाले युवक उससे छेड़छाड़ करते थे।

छात्रा पीलीभीत जाकर रहने लगी तो वहां भी युवक जाकर छेड़छाड़ करने लगा था। पीलीभीत मे मुकदमा दर्ज कर आरोपियों को जेल भेज दिया था लेकिन जेल से छुटने के बाद युवक फिर से छेड़छाड़ करने लगे थे। जिसके चलते छात्रा ने आत्महत्या कर ली है। तहरीर मिल गई है आरोपियों के मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story