×

रायबरेली : अराजक तत्वों ने तोड़ी 30 वर्ष पुरानी भगवान की मूर्ति, छानबीन में जुटी पुलिस

ग्राम पंचायत खासे हटी में करीब 30 वर्ष पहले स्थापित की गई मूर्ति को अराजक तत्वों ने तोड़ा दिया। स्थानीय लोग मूर्ति तोड़ने वाले अपराधी पकड़े की मांग कर रहे हैं।

Narendra Singh

Narendra SinghReport Narendra SinghDeepak KumarPublished By Deepak Kumar

Published on 14 Sep 2021 8:42 AM GMT

Raebareli News Mischievous elements broke 30 year old lord Statue
X

मंदिर का पुजारी टूटी मूर्ति के साथ। 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

रायबरेली: रायबरेली के मिल एरिया थाना क्षेत्र के कसेहटी गांव में आज उस समय ग्रामीण आक्रोशित हो गए जब गांव में बने मंदिर में रखी बजरंगबली की मूर्ति खंडित दिखाई दी। बताया जा रहा है कि बीती रात को अराजक तत्वों ने मंदिर में रखी मूर्ति को तोड़ दी है। घटना की सूचना मिलने पर पूरे गांव में हड़कंप मच गया और देखते ही देखते मौके पर ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठी हो गई।

तोड़ी गई बजरंग बली की मूर्ति।

इसी बीच मामले की सूचना मिलने पर बीजेपी नेत्री अनिता श्रीवास्तव ने समर्थकों के साथ मौके पर पहुंच गई और धरने पर बैठ गई। वहीं, जब इस मामले की पुलिस के उच्चाधिकारी जानकारी मिली तो अपने अधीनस्थों के साथ मौके पर पहुंचे और आक्रोशितों को शांत करने में जुट गए। फिलहाल पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी।

प्रदर्शन करते स्थानीय लोग।

अराजक तत्वों ने तोड़ी 30 साल पुरानी मूर्ति

मिलएरिया थाना क्षेत्र के कसेहटी गांव में 30 साल पहले एक मंदिर की स्थापना ग्रामीणों ने कराई थी। मंदिर में बजरंग बली व अन्य देवी देवताओं की मूर्तियां स्थापित की गई है। ग्रामीण मंदिर में पूजा अर्चना करते थे और वहां पर एक बुजुर्ग पुजारी जालीपा प्रसाद तिवारी ने मंदिर की देखभाल करते थे। कल देर रात अराजक तत्वों ने मंदिर में रखी बजरंगबली की मूर्ति को कुल्हाड़ी से प्रहार कर तोड़ दिया। सुबह जब पुजारी पूजा करने के लिए मंदिर पहुंचे तो उन्होंने देखा बजरंगबली की मूर्ति टूटी हुई अवस्था में पड़ी हुई है।

मूर्ति स्थापित करने के लिए आर्थिक सहायता करता पुलिस अधिकारी।

मुकदमा दर्ज कर छानबीन की शुरू

पुलिस को जैसे ही ग्रामीणों के आक्रोशित होने की खबर मिली वो भागकर मौके पर पहुंची और सीओ सिटी महिपाल पाठक सदर एसडीएम अंशिका दीक्षित ने कहा कि ग्रामीणों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया और मूर्ति को लगवाने का आश्वासन दिया। वहीं, ग्रामीणों का कहना है कि जब तक मूर्ति की स्थापना नहीं हो जाती और आरोपी पकड़े नहीं जाते तब तक धरना खत्म नहीं करेंगे।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story