रामपुर में सपा की जीत पर आजम बोले- नफरत की हार, मोहब्बत की जीत

उत्तर प्रदेश के निकाय चुनाव में जहां सूबे के ज्यादातर क्षेत्रों में भाजपा का परचम लहराया, वहीं समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मो. आजम खान के गढ़ रामपुर में पार्टी की जीत

Published by tiwarishalini Published: December 3, 2017 | 9:20 am
Modified: December 3, 2017 | 10:43 am

रामपुर: उत्तर प्रदेश के निकाय चुनाव में जहां सूबे के ज्यादातर क्षेत्रों में बीजेपी का परचम लहराया, वहीं समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मो. आजम खान के गढ़ रामपुर में पार्टी की जीत पर उन्होंने कहा कि रामपुर में नफरत की हार और मोहब्बत की जीत हुई है। आजम ने निकाय चुनाव के बाद बिजली के दाम बढ़ाने पर भाजपा को घेरा और कहा कि भाजपा राजनीतिक धोखेबाजी कर रही है।

यूपी : निकाय चुनावों पर एशियाई महाद्वीपों और अमेरिका की थी नजर

आजम ने रामपुर में सपा की जीत पर शनिवार को खुशी जाहिर करते हुए कहा कि रामपुर में किसी पार्टी की हार या जीत नहीं, बल्कि नफरत की हार और मोहब्बत की जीत हुई है।

उन्होंने कहा, “निकाय चुनाव के मतदान के बाद उप्र में बिजली के रेट बढ़ना भाजपा की राजनीतिक धोखेबाजी है। उसका काम ही लोगों के विश्वास को तोड़ना है।”

गुजरात चुनाव के बारे में आजम ने कहा कि जिस तरह उप्र में निकाय चुनाव के बाद बिजली के दाम बढ़े, उसी तरह गुजरात चुनाव के बाद बेनामी सम्पत्ति पर भी कार्रवाई होगी।

रामपुर में सपा ने पहले से बेहतर प्रदर्शन किया है। रामपुर की आठ निकायों में से चार पर सपा ने कब्जा किया, जबकि भाजपा और कांग्रेस को एक-एक सीट मिली। पिछली बार तीन पर भाजपा का कब्जा था, लेकिन इस बार सपा ने अध्यक्ष की दो सीटें भाजपा से छीन ली। वहीं दो पर निर्दलीयों ने जीत दर्ज की है।