Top

नीतीश बोले- RSS वाले स्वंयसेवकों की नहीं गायों के लिए शाखा लगाएं

By

Published on 6 Aug 2016 8:59 AM GMT

नीतीश बोले- RSS वाले स्वंयसेवकों की नहीं गायों के लिए शाखा लगाएं
X
नीतीश कुमार कानपुर रैली में आरएसएस और बीजेपी पर जमकर बरसे
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: मिशन यूपी के तहत बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शनिवार को कानपुर पहुंचे। उन्होंने बीजेपी और संघ पर जोरदार हमला किया। उन्होंने कहा- असली ताकत संघ के पास है। मोहन भागवत बताएं शराबबंदी पर उनकी क्या राय है। ये लोग गोमाता की बात करते हैं, लेकिन चमड़े का जूता पहनते हैं। जयपुर में 500 गाय भूख से मर गईं। ये स्वंयसेवकों की नहीं गायों के लिए शाखा लगाएं।

कहां गया कालाधन

चुनाव में वो (पीएम नरेंद्र मोदी) कहते थे कि कालाधन लाएंगे। सबके खाते में 15-20 लाख रुपए देंगे। दो साल हो गया किसी को कुछ नहीं मिला। मैं वाराणसी गया तो लोगों ने कहा कि जब प्रधानमंत्री यहां आए थे तो बोले कि मां गंगा ने मुझे बुलाया है। लेकिन अब मां गंगा उन्हें ढूंढ़ती फिर रही हैं।

आरएसएस शाखा में रखे नील गाय

इन्हें लोगों की कोई चिंता नहीं है। फसलों को बर्बाद करने वाली गायें मारी जाती हैं तो चिल्लाते हैं। किसानों के लिए कुछ तो करना पड़ेगा ना। आप जाइए उन्हें पकड़ कर ले जाइए शाखा में रखिए।

यूपी में तरह-तरह की कोशिश होती है बांटने की। आप लोग सतर्क रहिए। ये चालाकी होती है। मोबाइल में सोशल मीडिया का दुरुपयोग हो रहा है। कभी कोई मोहम्मद साहेब के बारे में कोई हिंदू देवी-देवताओं के खिलाफ गलत लिख देता है। ये कौन कर रहा है। इसका प्रयोग लोगों को बांटने के लिए किया जा रहा है।

शराबबंदी से लोग खुश

नीतीश ने कहा कि बिहार में महिलाएं शराबबंदी से बहुत खुश हैं। सभी लोग सरकार के फैसले की तारीफ कर रहे हैं।

घर-घर जाइए

यूपी को यदि आप शराबमुक्त और संघमुक्त बनाना चाहते हैं तो घर-घर जाकर लोगों से कहिए कि जेडीयू में वो ताकत है।

कुर्मी बहुल इलाके में रैली

कुर्मी समाज, जायसवाल समाज, किसान यूनियन, निषाद समाज के लोगों ने उनका स्वागत किया। वहीं, बड़ी संख्या में जेडीयू कार्यकर्ताओं को देख नीतीश कुमार चेहरे में खुशी दिखाई पड़ी। जेडीयू ने यह सभा घाटमपुर में की है जो पटेल समाज और कुर्मी समाज बहुल क्षेत्र है।

शराबबंदी की मांग का समर्थन

जेडीयू राजनैतिक समेल्लन में पहुची निहारिका ने बताया कि बिहार में शराब बंदी की इस पहल ने गरीब परिवारों और महिलाओं के लिए वरदान साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि कुछ इसी अंदाज में नितीश जी का बिहार में स्वागत होता है। वह जहां भी जाते हैं महिलाए हाथो में शराब छोड़ो घर जोड़ो के पोस्टर लेकर उनका स्वागत करते हैं।

उमादेवी के मुताबिक, यदि एक अच्छा और पढा लिखा समाज बनाना है तो शराब पर पूर्ण रूप से बंद करना होगा। लेकिन यूपी में शराब बंदी नहीं है, जिसकी वजह से क्राइम बढ़ा है। इसके साथ महिलाओं की समाज में दुर्दशा है। बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। लेकिन बिहार में यह स्थिति खत्म हो गई है।

Next Story