Top

मायावती ने कहा- BJP राम मंदिर के मुद्दे पर लड़ेगी 2017 का चुनाव

suman

sumanBy suman

Published on 3 July 2016 6:55 AM GMT

मायावती ने कहा- BJP राम मंदिर के मुद्दे पर लड़ेगी 2017 का चुनाव
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: पार्टी में मची भगदड़ से तिलमिलाई बसपा प्रमुख मायावती ने रविवार को बीजेपी पर जोरदार हमला किया। उन्होंने कहा, ''यूपी विधानसभा का चुनाव जीतने के लिए केंद्र में सत्तारुढ़ पार्टी राम मंदिर के मुद्दे पर सामने आएगी। बीजेपी राम मंदिर के मुद्दे पर हमेशा राजनीति करती है और इस बार भी चुनाव जीतने के लिए मंदिर मुद्दे को उछालेगी। बीजेपी के छोटे-बड़े नेताओं ने चुनाव को नजदीक देखते हुए इस मुद्दे को उठाना शुरु भी कर दिया है। बीजेपी राम मंदिर के नाम पर इस बार भी चुनाव में अपनी राजनीतिक चाल से बाज नहीं आएगी ।''

बसपा के जनाधार पर नहीं पड़ेगा असर: माया

-बीजेपी जानबूझकर सपा सरकार पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

-आया राम गया राम से बसपा के जनाधार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ने वाला हैं।

-दल-बदलू लोग जिस पार्टी में जाएंगे उनका बेड़ा गर्क ही होगा।

-लोकसभा चुनाव में भले ही लोग बीजेपी के झांसे में आ गए हों, लेकिन अब कोई इनके झांसे में नहीं आएगा।

-भले ही ये ओबामा और बड़े-बड़े नेताओं के नाम लेते रहें।

-बीजेपी को अगर इस बार वोट लेना है तो इन्हें लोकसभा के दौरान किए गए वादों पर खरा उतरना होगा।

-बीजेपी सरकार के अब तक के रवैये से ऐसा नहीं लग रहा है।

-बीजेपी हमेशा किसानों ,गरीबों ,दलितों और मजदूरों के प्रति असंवेदनशील रही है।

-किसानों और मजदूरों के प्रति सहानुभूति इस पार्टी का दिखावा है।

नीचे देखिए, सपा और बीजेपी पर हमला करतीं मायावती की प्रेस कॉन्फ्रेंस का VIDEO:

'किसानों की नहीं, धन्नासेठों की पार्टी है बीजेपी'

-एक तरफ किसान आत्महत्या कर रहे हैं, दूसरी तरफ किसानों का इस्तेमाल पूंजीपति अपनी ब्लैकमनी को व्हाइट करने के लिए किया जा रहा है।

-ब्लैकमनी के 15 लाख रुपए अगर किसानों को दे दिएं जाएं तो उनका भला हो जाएगा, लेकिन बीजेपी किसानों की नहीं धन्नासेठों की पार्टी है।

-मोदी ने कहा था कि देश का काला धन जो विदेशों में जमा है, उसे हम सरकार बनने के 100 दिन के अंदर वापस लाएंगे।

-उसमें से गरीब परिवारों को 15 लाख रुपए देंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। अब बसपा को मजबूत करने की जरूरत हैं।

-केंद्र सरकार ने काले धन के उजागर में 30 सितंबर का समय दिया और उनका नाम नहीं उजागर करने की शर्त रख काला धन रखने वालों को बचाना चाहती है।

-काला धन रखने वाले ज्यादातर लोग बीजेपी से सहानुभूति रखते हैं।

-यदि ऐसा नहीं होता तो केंद्र सरकार उनके नाम भी सामने लाती ताकि देश की जनता को पता चलता कि कौन हैं ऐसे लोग जो गरीबों का हक छीनकर अमीर बने हुए हैं।

अमित शाह नहीं जुटा पा रहे भीड़: मायावती

- अमित शाह कार्यकर्ताओं की भीड़ नहीं जुटा पा रहे हैं, इसलिए वह बूथ लेवल पर कार्यकर्ताओं से मिल-मिल कर बात कर रहे हैं।

-अमित शाह के ओबामा वाला बयान बेहद शर्मनाक है। आप केंद्र में हैं, इसलिए आपकी भी जिम्मेदारी है कि लॉ एंड आर्डर की।

क्या कहा था अमित शाह ने ?

-बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि यूपी में कानून-व्यवस्था की हालत बेहतर खराब है। सपा सरकार जब मथुरा में पुलिसवालों की हिजाफत की कर पाई तो जनता की क्या करेगी। यहां अखिलेश नहीं तो क्या ओबामा आएंगे यूपी का लॉ एंड आर्डर सहीं करने।

उत्तराखंड की मदद करे केंद्र सरकार

-मायावती ने केंद्र सरकार से गुजारिश करते हुए कहा कि उत्तराखंड में हुई भारी तबाही से उबरने वो प्रदेश की मदद करें।

suman

suman

Next Story