Top

CM अखिलेश ने मेधावियों को किया सम्मानित, कहा- साइकिल सिखाती है बैलेंस

By

Published on 14 Jun 2016 2:41 PM GMT

CM अखिलेश ने मेधावियों को किया सम्मानित, कहा- साइकिल सिखाती है बैलेंस
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: सीएम अखिलेश यादव ने सोमवार को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में प्रदेश भर से आए यूपी बोर्ड के टॉपर्स को सम्मानित किया। सीएम अखिलेश यादव ने इस सम्मान समारोह में कहा कि स्कूल से निकल कर ही असली जिंदगी के मायने तय करने पड़ते है, यह जिंदगी उस भूल भुलैया की तरह हैं जो कल आप लोगों ने इमामबाड़े में देखी, जहां हर मोड़ पर चार दरवाजे मिलते हैं, लेकिन उसमे से एक ही रास्ता सही होता है बाक़ी सब गलत, उसमे से सही रास्ता आपको चुनना पड़ेगा। इसके बाद सीएम अखिलेश ने बीजेपी और बीएसपी पर भी निशाना साधा।

सीएम अखिलेश ने बताया साइकिल का महत्व

सीएम अखिलेश यादव ने प्रदेश भर के मेधावियों को इनाम में साइकिल दिए जाने की भी बड़ी दार्शनिक व्याख्या की। सीएम अखिलेश ने कहा कि इन बच्चों को हम साइकिल दे रहे हैं, यह इसलिए नहीं क्योंकि यह समाजवादी पार्टी का चुनाव निशान है, बल्कि इसलिए कि साइकिल हमें बैलेंस बनाकर चलना सिखाती है। साइकिल बताती है कि किस तरह से कर्तव्य पथ पर लगातार प्रयास करने से बैलेंस बनाकर चला जा सकता है।

पहली बार लखनऊ आए बच्चों से कहा- यह नवाबों का शहर है

-हर साल प्रदेश में सवा करोड़ से ज्यादा स्टूडेंट पास होते हैं यह सरकार की सबसे बड़ी चुनौती हैं।

-मैं एक देश के एम्बेसडर से मिला तो उसने बताया कि हम एक फंड ऐसा भी बना रहे हैं जो बुजुर्गों का भी ध्यान रखे।

-सीएम अखिलेश ने कहा कि भले ही हम आज गर्व महसूस कर रहे हैं कि हम सबसे युवा देश हैं तो कल यह सबसे बूढ़ा देश भी होगा।

-इसके लिए तैयारी करनी होगी।

-कुछ बच्चे लखनऊ पहली बार आए हैं, यह नवाबो का शहर है।

-हो सकता है की बच्चों को नवाबी दिखी हो लेकिन दुनिया में इसकी पहचान अदब और तहजीब के लिए मशहूर हैं।

यह भी पढ़ें ... EXCLUSIVE : UP कैबिनेट का होगा विस्तार, जयंत चौधरी बनेंगे मंत्री

बीएसपी पर ली चुटकी

-बच्चों से सीएम अखिलेश ने कहा कि आप जनेश्वर मिश्रा पार्क भी गए होंगे जहां आपने नेचर देखा होगा।

-लखनऊ में और भी पत्थरों के पार्क हैं, लेकिन उनके आस पास का टेम्प्रेचर लखनऊ से 8 डिग्री सेल्सियस ज्यादा रहता हैं।

-9 साल में कुछ पार्कों में ऐसे भी हाथी हैं जो 9 साल से जैसे हैं वैसे ही हैं।

-जो हाथी बैठे थे वे नौ साल से बैठे है और जो खड़े थे वह अभी भी खड़े है।

यह भी पढ़ें ... पहले उछाल लिया एक दूसरे पर कीचड़,अब एक हमाम में मिलाएंगे सुर

हमने जो लैपटॉप बाटें बीजेपी ने उसे झुनझुना कहा

-सीएम अखिलेश ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि आपको यूपी ने 70 सीटें दी।

-आपने नीति आयोग बनाकर हमारे प्रदेश का 9 हजार करोड़ वापस ले लिया जनता इसका जवाब देगी।

-सीएम अखिलेश ने बीजेपी के लोग हमारी सरकार द्वारा दिए गए लैपटॉप को झुनझुना कहती थे।

-लेकिन बिना लैपटॉप के डिजिटल इंडिया का सपना कैसे साकार हो सकता हैं।

-ये वही लोग हैं जिन्होंने बहुत पहले कूड़े से बिजली बनाने का प्लांट लगा दिया, लेकिन उससे एक बल्ब भी नहीं जला।

-पूछने पर पता चला कि कूड़े की क्वालिटी अच्छी नहीं थी. अब इन्हें कौन बताये?

कौन अखबार नंबर- 1 मुझे समझ नहीं आता

मीडिया पर चुटकी लेते हुए सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि अखबार नंबर वन होने का दावा करते हैं।

आज कोई अखबार कहता है कि वह नंबर वन है तो उसके कुछ दिन बाद दूसरा अखबार कहता है कि मैं नंबर वन हूं।

यह नंबर वन का खेल मुझे समझ में नहीं आता है।

जिस अखबार का हर एक शब्द पढ़ा जाए वही अखबार नंबर वन है।

Next Story