Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

सीएम योगी ने दिए इंटर स्टेट बस सेवाएं बंद करने के आदेश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज इंटर स्टेट बस सेवाओं को बंद करने का आदेश दे दिया है।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad MishraBy Raghvendra Prasad Mishra

Published on 2 May 2021 1:17 PM GMT

yogi aditynath
X

फाइल फोटो— (साभार—सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए नियमों को और सख्त किए जाने का सिलसिला जारी है। एमपी और यूपी के बीच बस सेवा बंद करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज इंटर स्टेट बस सेवाओं को बंद करने का आदेश दे दिया है। गौरतलब है कि प्रदेश के सीमावर्ती क्षेत्रों में भी कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। ऐसे में इंटर स्टेस बस सेवा के बंद होने से अन्य राज्यों से आने वाले लोगों की संख्या में कमी आएगी।

गौरतलब है उत्तर प्रदेश में एक तरह से कोरोना विस्फोट की स्थिति बन गई है। अस्पतालों में जगह नहीं है। होम क्वारंटइन हुए लोगों के सामने दवा और आक्सीजन की किल्लत है। राजधानी लखनऊ से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में इस महामारी से हाहाकार मचा हुआ है। स्थिति की भयानकता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि लखनऊ के कृष्णानगर की एलडीए कॉलोनी आइसोलेशन में अरविंद गोयल (60) और उनके बेटे आशीष गोयल (25) की मौत हो गई, जबकि दिव्यांग पत्नी अचेता अवस्था में मिली। पड़ोसियों को मरने की खबर घर से आ रही दुर्गंध से लगी। जिस पर उन लोगों ने पुलिस को बुलाया। मौके पर पहुंची पुलिस ने इलाज के लिए बदहवास वृद्धा को अस्पताल पहुंचाया।

Also Read:श्रमिक दिवस पर CM योगी का तोहफा, श्रमिकों के लिए सुरक्षा व स्वास्थ्य बीमा का ऐलान

जानकारों की मानें तो कोरोना वायरस का संक्रमण अब गांवों तक पहुंच गया है। लेकिन यहां जांच व इलाज की सुविधा न मिल पाने की वजह से कई लोग इलाज के अभाव में दम तोड़ रहे है और यह पता भी नहीं चल पा रहा है कि उसकी मौत कैसे हुई। वहीं कोरोना का बहाना बनाकर डॉक्टर भी मरीज को देखने से परहेज कर रहे हैं। डॉक्टर को दिखाने से पहले मरीज को कोरोना की जांच की परीक्षा से गुजरना पड़ रहा है, जिसके चलते मरीज को जब तक जांच मिलने की बारी आती है, गंभीर रूप से बीमार की सांसे उखड़ जाती हैं।

Also Read:पंचायत चुनाव: मतगणना पर कोरोना का साया, रामपुर में 9 कर्मचारी निकले पॉजिटिव


Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story