Top

कोरोना हारेगा, हम जीतेंगे, बरतें ये सभी सावधानियां

डॉ अरुण कुमार मिश्रा का कहना है, प्रिय मित्रों कोरोना हारेगा, आप जीतेंगे, यह निश्चित है। कोरोना से सावधान रहें, किन्तु डरें नहीं।

Kapil Dev Maurya

Kapil Dev MauryaReporter Kapil Dev MauryaDharmendra SinghPublished By Dharmendra Singh

Published on 30 April 2021 7:16 PM GMT

Coronavirus
X

कोरोना वायरस (फाइल फोटो: सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जौनपुर: कोरोना महामारी के इस वर्तमान दूसरी लहर के दौरान इंडियन मेडिकल एसोसिएशन जौनपुर के सदस्यों ने एक मुहिम चला रखी है जिसके तहत आम जनमानस को इस महामारी से बचने एवं यदि उसमें संक्रमित हो जाता है तो किस प्रकार अपने रोग को नियंत्रित करना है, इसके बारे में जानकारी प्रदान किया जा रहा है और जनता को जागरूक किये जाने का प्रयास किया जा रहा है। इसी क्रम में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन जौनपुर के वरिष्ठ सदस्य एवं जनपद जौनपुर के वरिष्ठ फिजीशियन डॉ अरुण कुमार मिश्रा ने जनता से संवाद स्थापित किया है।

डॉ अरुण कुमार मिश्रा का कहना है, प्रिय मित्रों कोरोना हारेगा, आप जीतेंगे, यह निश्चित है। कोरोना से सावधान रहें, किन्तु डरें नहीं। निडर होकर उसका सामना करें। आपको अवश्य विजय मिलेगी। कुछ बातों का आप ध्यान रखें। केवल अति आवश्यक कार्य से ही आप घर के बाहर निकले। किसी भी वैवाहिक या अन्य समारोहों में आप सम्मिलित कदापि ना हो। आपकी समारोह में उपस्थिति से अधिक महत्वपूर्ण आपका तथा आपके शुभेक्षुओं का स्वास्थ्य व जीवन है। आपका शरीर समारोह में अनुपस्थित रहते हुए भी उनको शुभकामनाएं दे, शुभ संदेश दे, स्वयं समारोह में उपस्थित ना हों। यह समाज की आवश्यकता है और इसी में आपका भला है। आपके शुभेक्षुओं की भी भलाई इसी में है।
आपके पास यदि N95 मास्क उपलब्ध है तो उसको लगा कर यदि बाहर निकलना है तो निकले। यदि N95 मास्क नहीं उपलब्ध है तो दो सर्जिकल मास्क या 3 प्लाई मास्क को एक के ऊपर एक रखकर इस्तेमाल करें। वह भी जब बहुत आवश्यक हो तो ही बाहर निकले। आपस में 6 फुट की दूरी अवश्य बनाकर रखें। मित्रों, इस समय हर घर में हल्का बुखार सर दर्द बदन दर्द भूख ना लगने वाले लक्षण वाले रोगी मिल रहे हैं। ऐसी स्थिति में आप जरा भी परेशान ना हो। इन में से 95% लोग साधारण विश्राम से और हल्की दवाओं से जिनका उपयोग आपको मालूम है, जैसे कैल्पोल, अज़ीथ्रोमैसीन, डोक्सिसायइक्लीन, जिंक, विटामिन सी, विटामिन डी, खांसी हो तो खांसी का कोई भी शर्बत आदि सामान्य दवाओं से आप ठीक हो जाएंगे। इन दवाओं को लेने के लिए भी आप अपने डॉक्टर के संपर्क में रहें। आप बिल्कुल परेशान ना हो। केवल बहुत कम लोगों को इस बात की आवश्यकता होती है कि इससे अधिक दवाओं की उनको जरूरत पड़े। यथासंभव अपने घर में आप एक पल्स ऑक्सीमीटर अवश्य रखें जिससे आपके नाड़ी की गति और ऑक्सीजन सैचुरेशन पता लगता रहेगा। यदि आपका ऑक्सिजन सैचुरेशन 94% से कम आ रहा है, तो भी आप चिंता ना करें और अपने डॉक्टर से संपर्क करें। पेट के बल लेट जाएं। कंधे और कमर के नीचे तकिया लगा ले ताकि आपका पेट बिस्तर से ऊपर रहे और दबा ना रहे। पेट के बल लेटकर सांस लेते रहे। ऐसा करने से आपके ऑक्सीजन का सैचुरेशन 2 से 4% या कभी-कभी 6% तक भी बढ़ जाता है। यदि ऐसा हो रहा है तो आप घर पर ही रह कर यह एक्सरसाइज करते रहें और अपना इलाज घर पर ही करते रहें। यदि यह सब करने के बाद भी आपके ऑक्सीजन का प्रतिशत 90 से कम रहता है तो आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें और उसके बाद ही आप अस्पताल के लिए घर से निकलें। अन्य मामूली रोगों के लिए भी आप अस्पताल न जाएं। यदि आपको पहले से बी पी, शुगर या हृदय की दवाएं, दमा की दवाई, दिमाग से संबंधित मिर्गी की दवाई, आदि चल रही है जिन पर आप स्थिर हैं तो आप यह दवाएं न छोड़ें और लगातार अपनी पुरानी दवाई लेते रहे। इसके लिए अस्पताल में जाने की आवश्यकता नहीं है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने टेलीमेडिसिन के लिए चिकित्सकों का मोबाइल नंबर जारी किया है। आप आवश्यकता पड़ने पर इन नंबरों पर चिकित्सकीय सहार सलाह ले सकते हैं।
इस रोग से बचने के लिए सभी को यह सलाह है कि आप लोग निकटतम सरकारी चिकित्सालय से कोरोना के विरुद्ध वैक्सीन अवश्य लगवा ले यह वैक्सीन इंफेक्शन 100 फ़ीसदी नहीं रोक सकती किंतु गंभीर रोग को रोकने में या 100% कारगर है। वैक्सीन लगवाए हुए व्यक्ति में यह देखा गया है कि गंभीर रोग नहीं होता और वेंटीलेटर या l 3 लेवल की आवश्यकता नहीं पड़ती। आप अपने को मानसिक एवं भावनात्मक रूप से स्थिर एवं मजबूत रखें यदि आप मानसिक एवं भावनात्मक रूप से मजबूत रहेंगे तो स्वयं आप अपनी एवं अपने घर वालों की तथा अगल-बगल वालों की सहायता कर सकेंगे।


Dharmendra Singh

Dharmendra Singh

Next Story