Top

स्वाति सिंह ने की अपील- जनता मायावती जैसी नेताओं को संसद नहीं भेजे

suman

sumanBy suman

Published on 24 July 2016 9:12 AM GMT

स्वाति सिंह ने की अपील- जनता मायावती जैसी नेताओं को संसद नहीं भेजे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: बसपा प्रमुख मायावती की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद दयाशंकर की पत्नी स्वाति सिंह ने मायावती से एक के बाद एक कई सवाल पूछे। स्वाति सिंह ने कहा,''मायावती खुद को देवी बताती हैं, लेकिन उन्हें पता होना चाहिए कि उसके पहले वो एक महिला हैं ओर सभी महिलाओं का सम्मान बराबर होता है। ऐसा नहीं कि वो एक पार्टी की अध्यक्ष हैं तो उनका सम्मान ज्यादा और सामान्य घरेलू महिला का सम्मान कम है।''

और क्या बोलीं स्वाति सिंह ?

-मायावती सवाल उठा रही हैं कि अच्छा होता कि बीजेपी अपने नेता के खिलाफ खुद एफआईआर दर्ज कराते।

-यही सवाल वो मायावती से कर रही हैं कि अच्छा होता कि वो अपनी पार्टी के नेता नसीमुद्दीन और अन्य के खिलाफ मुकदमें दर्ज करातीं।

-उनकी किसी भी बात का मायावती ने अब तक जवाब नहीं दिया है ।

जनता मायावती जैसी नेताओं को संसद नहीं भेजे

-मेरे पति के कुछ कहने पर मायावती ने संसद में मेरी सास,ननद और बेटी के बारे में वो ही शब्द बोले। जिसे पूरा देश सुन रहा था।

-क्या सांसद होने के नाते उन्हें ये अधिकार है कि वो किसी के बारे में कुछ भी कह सकती हैं ?

-ऐसे लोगों को तो संसद में भेजा ही नहीं जाना चाहिए जो महिलाओं के बारे में ऐसे विचार रखती हो ।

बीजेपी,सपा कांग्रेस आई पक्ष में

-जिस दिन मेरे परिवार को बसपा के नेता और कार्यकर्ता गालियां दे रहे थे तो उस दिन कोई मेरे साथ नहीं था।

-वो अकेली अपनी लड़ाई लड़ रही थीं, लेकिन दूसरे दिन बीजेपी देश की महिलाओं के सम्मान के लिए सड़कों पर आई।

-अब बसपा छोड़ सभी पार्टियों के लोग इस लड़ाई में मेरे साथ हैं। सभी ने समर्थन की बात कही है।

जूही ने मांगा दो दिन का वक्त

-राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष जूही सिंह ने उनकी बेटी के खिलाफ लगाए गए आपत्तिजनक नारे के बारे में पॉस्को एक्ट के तहत मुकदमा दज्र करने के लिए दो दिन का समय मांगा है।

-मुझे उनके जवाब का इंतजार है। स्वाति ने कहा वो भी कानून की छात्रा रही हैं और एलएलएम किया है।

-वो जानती हैं कि किसी बच्ची के बारे में अपशब्द कहना पास्को कानून के तहत आता है। मुझे विश्वास है कि सीएम अखिलेश यादव इस मामले में न्याय करेंगे।

पति ने नहीं हुआ सम्पर्क

स्वाति ने कहा कि उनके पति के इंटरव्यू एक अंग्रेजी अखबार में छपा है, लेकिन उनका अब तक मुझसे कोई सम्पर्क नहीं हो पाया है। मुझे तो ये भी नहीं पता कि वो कहां हैं। शायद अभी भी वो काफी इनसिक्योर है, क्योंकि बीएसपी वाले कभी उनका सिर तो कभी जीभ काटकर लाने की बात कर रहे हैं।

suman

suman

Next Story