Top

जानिए, आखिर मोदी को इन लोगों ने खून से दस्तखत कर क्यों भेजी चिट्ठी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 21 July 2016 7:36 PM GMT

जानिए, आखिर मोदी को इन लोगों ने खून से दस्तखत कर क्यों भेजी चिट्ठी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुरः फर्टिलाइजर प्लांट बंद होने के बाद बेरोजगार हुए सैकड़ों कर्मचारियों ने पीएम नरेंद्र मोदी तक अपनी आवाज पहुंचाने के लिए अनोखा तरीका खोजा। इन सभी ने अपनी मांगों को लेकर चिट्ठी लिखी और उसमें अपने खून से दस्तखत कर पीएमओ को भिजवाया है।

क्या है कर्मचारियों की मांग?

-फर्टिलाइजर प्लांट कर्मचारी मंच 21 अक्टूबर 2013 से धरना दे रहा है।

-इन कर्मचारियों की छह सूत्रीय मांगें हैं। यूपी सरकार को भी ये अपनी मांग बता चुके हैं।

-कर्मचारियों के मुताबिक फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन उनके लिए 2002 में वीएसएस स्कीम लाया।

-कर्मचारियों को 15 साल पुराने वेतन के बराबर मुआवजा देकर बाहर कर दिया गया।

-आंदोलन करने वालों के मुताबिक उनकी 24-25 साल की नौकरी बाकी थी।

पीएम से क्या चाहते हैं?

-कर्मचारी मंच चाहता है कि पीएम इस मामले में जांच कराएं।

-जांच कराने के बाद पीड़ित कर्मचारियों को उनका हक दिलाया जाए।

-कर्मचारियों के अनुसार, उन्हें अपना परिवार पालने में दिक्कत हो रही है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story