Top

सुरक्षा को लेकर DGP से मिली शोरगुल की टीम, कहा- कुछ भी विवादित नहीं

By

Published on 30 Jun 2016 2:16 PM GMT

सुरक्षा को लेकर DGP से मिली शोरगुल की टीम, कहा- कुछ भी विवादित नहीं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: विवादों और सुरक्षा कारणों से रिलीज में देरी के बाद फिल्म शोरगुल की टीम शुक्रवार को यूपी के डीजीपी जावीद अहमद से मिली। टीम ने डीजीपी से मिलकर सिनेमा घरों में फिल्म शोरगुल को प्रोटेक्शन देने की मांग की। बता दें, कि चलें कि मुजफ्फरनगर के दंगों की पृष्ठभूमि पर बनी इस फिल्म को लेकर बहुत विवाद हो चुका हैं और इसकी रिलीज डेट भी टल चुकी हैं।

डीजीपी से मिलने वाली टीम में निर्माता स्वतंत्र विजय सिंह, जितेंद्र तिवारी, शाशि वर्मा के अलावा अभिनेता नरेंद्र झा, एजाज़ खान, सुहा गेजेन भी शामिल थे। डीजीपी से मिलने के बाद निर्माता स्वतंत्र विजय ने बताया कि यह फिल्म में 01 जुलाई को एक साथ 900 से ज्यादा स्क्रीन्स पर रिलीज की जा रही हैं। फिल्म शोरगुल के निर्माता-निर्देशक इस फिल्म को इसी हफ्ते रिलीज करना चाहते हैं। इसी सिलसिले में उन्होंने डीजीपी से मुलाक़ात की।

जिम्मी शेरगिल के खिलाफ जारी हुआ था फतवा

बता दें, कि 24 जून को रिलीज होने वाली फिल्म शोरगुल में लीड रोल निभाने वाले जिम्मी शेरगिल के खिलाफ खम्मन पीर बाबा कमेटी की तरफ से फतवा जारी किया गया था। जबकि तमाम तरह की धमकियों के बाद इसकी रिलीज डेट टाल दी गई थी। अभिनेता नरेंद्र झा ने बताया कि जिन भी लोगों ने इस फिल्म के लिए फतवा जारी किया है जब वो लोग यह फिल्म देखेंगे तो उन्हें खुद अफसोस होगा कि उन्होंने गलत फतवा जारी कर दिया था।

यह भी पढ़ें ... EXCLUSIVE: जल्द ही सिनेमाघरों में देखने को मिलेगी SHORGUL 2

वेस्ट यूपी के ज्यादातर सिनेमाघरों ने फोल्म चलने से किया इंकार

जानकारों की माने तो शोरगुल फिल्म के प्रदर्शन के समय सभी सिनेमाघरों को सुरक्षा देने के लिए एडीजी क़ानून व्यवस्था की तरफ से प्रदेश भर में सर्कुलर जारी कर आदेश दिया गया था। इसके बाद भी वेस्ट यूपी के ज्यादातर सिनेमा घरों ने फिल्म चलाने से इंकार कर दिया। जिसके कारण फिल्म रिलीज नहीं हो पाई।

दो साल से ज्यादा का लगा समय

निर्देशक जितेंद्र तिवारी ने बताया कि इस फिल्म को बनाने में दो साल से ज्यादा का समय लगा। बतौर फिल्म निर्देशक यह उनकी पहली फिल्म है। वहीँ निर्माता स्वतंत्र विजय सिंह ने बताया कि फिल्म रिलीज को लेकर हमारी पूरी प्लानिंग और कैम्पेनिंग 24 जून की थी, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया जिसके कारण बहुत नुकसान उठाना पड़ा।

Next Story